शुरू हुई शनि की उल्टी चाल, इन 5 राशि वालों के बढ़ेंगे कष्ट, करें ये उपाय

आज शनि वक्री होने जा रहे हैं। इसे शनि की उल्टी चाल भी कहा जाता है। ज्योतिष शास्त्र के मुताबिक, शनि के वक्री होने से परेशानियां बढ़ती हैं। शनि के वक्री (Shani Vakri) होने का असर राशियों पर भी देखा जाएगा।

नई दिल्ली: आज शनि वक्री होने जा रहे हैं। इसे शनि की उल्टी चाल भी कहा जाता है। ज्योतिष शास्त्र के मुताबिक, शनि के वक्री होने से परेशानियां बढ़ती हैं। शनि के वक्री (Shani Vakri) होने का असर राशियों पर भी देखा जाएगा। 23 मई 2021 रविवार को दोपहर 02 बजकर 50 मिनट पर शनि देव वक्री होंगे।

इन 5 राशियों को विशेष ध्यान रखने की जरूरत

ज्योतिष शास्त्र के अनुसार तुला राशि, मिथुन राशि पर शनि की ढैय्या और धनु, मकर और कुंभ राशि पर शनि की साढ़ेसाती बनी हुई है। इसलिए इन 5 राशियों को विशेष ध्यान रखने की जरूरत है। इस दौरान शनि के प्रकोप से बचने के लिए हर दिन हनुमान चालीसा का पाठ करना चाहिए। इसके साथ ही शनि के मंत्रों का भी जाप करना चाहिए। निवार को शनि देव से जुड़ी वस्तुओं का दान करें। शनि देव भगवान शिव, भगवान कालभैरव और हनुमान जी की पूजा से प्रसन्न होते हैं। शनि के प्रभाव से बचने के लिए इन उपायों का पालन करें। जिससे इसका प्रभाव कम होता दिखें।

शनि के 7 उपाय :

1.छाया दान करें।

2.प्रतिदिन हनुमान चालीसा पढ़ें।

3.भैरव बाबा को शराब चढ़ाएं।

4कौवे को प्रतिदिन रोटी खिलाएं।

5.अंधे, अपंगों, सेवकों और सफाइकर्मियों को खुश रखें और उन्हें दान दें।

6.शहद का सेवन करें, शहद में काले तिल मिलाकर मंदिर में दान करें या शहद को घर में हमेशा रखें।

7.तिल, उड़द, लोहा, तेल, काला वस्त्र और जूता दान देना चाहिए।

यह भी पढ़ें

शनि की साढ़े साती, ढय्या या शनि के प्रकोप से डरने की जरूरत नहीं। हां, शनि ग्रह का प्रभाव हमारे शरीर पर जरूर रहता है लेकिन वह कितने समय तक और कैसा रहता है यह जानना जरूरी है। उपयोक्त बताएं गए उपाय से जरूरी है सावधानियां। उपाय न भी करें और यदि सावधानियों का पालन करते रहेंगे तो शनि के प्रभाव से मुक्ति मिल जाएगी।

Related Articles