Saudi Arabia ने एशिया के लिए घटाए क्रूड ऑयल के दाम

जेद्दाह : ब्लूमबर्ग की खबर के मुताबिक Saudi Arabia ने एशिया को एक्सपोर्ट होने वाले क्रूड के दाम में कमी की है। क्रूड प्रोड्यूस करने वाले देशों के संगठन ओपेक के प्रोडक्शन में अधिक बढ़ोतरी नहीं करने के फैसले से इसके प्राइसेज बढ़ रहे थे। सऊदी अरब की बड़ी ऑयल कंपनी सऊदी अरामको ने क्रूड के अरब लाइट ग्रेड का प्राइस नवंबर के लिए 40 सेंट से 1.30 डॉलर प्रति बैरल कम किया है।

अपना साठ फीसद आयल एशिया को बेचता है Saudi Arabia

यह मार्च के बाद से इस पर सबसे कम प्रीमियम है। इसके अलावा अमेरिका और नॉर्थ वेस्ट यूरोप के लिए भी क्रूड के सभी ग्रेड के प्राइसेज घटाए गए हैं। ओपेक और कुछ अन्य ऑयल प्रोड्यूस करने वाले देशों ने प्रोडक्शन में अधिक बढ़ोतरी नहीं करने का फैसला किया था। यूरोप और एशिया में गैस की कमी के कारण पावर जेनरेशन के लिए क्रूड की डिमांड बढ़ी है। सप्लाई में कम बढ़ोतरी से क्रूड महंगा हो रहा है। अमेरिका में इसके प्राइसेज सात वर्ष के हाई लेवल पर पहुंच गए हैं।

इस वर्ष की शुरुआत से ब्रेंट क्रूड में लगभग 60 प्रतिशत की तेजी आई है। कोरोना के मामले कम होने के बाद बड़े देशों की इकोनॉमी में रिकवरी और ओपेक के सप्लाई को कम रखने से प्राइसेज बढ़ रहे हैं। सऊदी अरामको के चीफ एग्जिक्यूटिव ऑफिसर, अमीन नसीर ने सोमवार को बताया था कि क्रूड की डिमांड बढ़कर लगभग पांच लाख बैरल प्रति दिन की हो गई है क्योंकि कुछ बिजनेस और पावर जेनरेशन कंपनियों को गैस के बजाय ऑयल का इस्तेमाल करना पड़ रहा है।

दुनिया की सबसे बड़ा ऑयल एक्सपोर्टर सऊदी अरब क्रूड की 60 प्रतिशत से अधिक बिक्री एशिया को करता है। भारत, जापान, चीन और दक्षिण कोरिया इसके बड़े कस्टमर्स हैं।

यह भी पढ़ें : फेसबुक आउटेज के बाद सात करोड़ लोग Telegram पर हुए शिफ्ट

Related Articles