सऊदी Aramco पाइपलाइनों में हिस्सेदारी बेचने के लिए $ 12.4 बिलियन के सौदे पर तैयार

रियाद : साउदी आयल प्रोडूसर कंपनी Aramco अमेरिका बेस्ड ईआईजी ग्लोबल एनर्जी पार्टनर्स की लीडरशिप में बने कंसोर्टियम को अपनी पाइपलाइनों में 12.4 बिलियन डॉलर के बदले 49% हिस्सेदारी बेचने के लिए तैयार है। आप की जानकारी के लिए बता दें 9 अप्रैल को हुई यह डील 2019 के एन्ड में अपने रिकॉर्ड $ 29.4 बिलियन की आईपीओ की पेशकश के बाद कंपनी की सबसे बड़ी डील है।

लीज और लीजबैक के समझौते में न्यूली फॉर्म्ड अरामको ऑयल पाइपलाइनों की 49 प्रतिशत हिस्सेदारी और अरामको की पाइपलाइनों पर किए गए तेल के 25 सालों के टैरिफ भुगतान के अधिकार शामिल हैं। हलांकि अरामको इस नई कंपनी में 51% हिस्सेदारी खुद ही रखेगा।

डील के बाद भी पाइपलाइन नेटवर्क पर Aramco का ही कंट्रोल रहेगा

इस सौदे के एक जानकार के मुताबिक ईआईजी, जिसने एनर्जी और एनर्जी इंफ़्रास्ट्रक्चर में $ 34 बिलियन से ज़्यादा का इन्वेस्टमेंट किया है वह इस सौदे का हामीदार है और आने वाले दिनों में कंसोर्टियम के दूसरे हिस्सेदारों को तय करने के लिए अरामको के साथ काम करेगा। जानकारों की माने तो आने वाले वक़्त में अबू धाबी स्टेट इन्वेस्टर मुबाडाला भी इस डील में शामिल हो सकता है। इसी के साथ साथ आप को बताते चलें की इस डील के बाद भी पाइपलाइन नेटवर्क पर अरामको का ही कंट्रोल रहेगा। और अरामको ही इस के मेंटेनेंस का खर्च भी उठाएगा। जानकारों की माने तो इस सौदे का अरामको के तेल प्रोडक्शन पर कोई असर नहीं पड़ेगा।

इस डील के साथ साथ अरामको स्टेपल फाइनेंसिंग की भी पेशकश करेगा जिसका यूज़ खरीदार अपनी खरीद को वापस करने के लिए कर सकते हैं। आप की जानकारी के लिए बता दें की इस डील में कंसोर्टियम के अलावा अपोलो ग्लोबल मैनेजमेंट और न्यूयॉर्क बेस्ड ग्लोबल इन्फ्रास्ट्रक्चर पार्टनर्स भी शामिल थे।

यह भी पढ़ें : कंपनी के टॉक्सिक वर्किंग एनवायरनमेंट के खिलाफ 500 Employees ने पिचाई को लिखा ओपन लेटर

Related Articles

Back to top button