अर्थव्यवस्था को लेकर मिल सकती है बड़ी खुशखबरी

नई दिल्ली: SBI रिसर्च की ताजा रिपोर्ट मे कहा गया है कि भारतीय अर्थव्यवस्था को लेकर जो रिपोर्ट सामने आयी है उसके मुताबिक मार्च 2021 मे खत्म हो रहे वित्त वर्ष मे GDP ग्रोथ – 7% रह सकती है। SBI की रिसर्च रिपोर्ट मे 2020-21 के दौरान जीडीपी में 7.4% संकुचन का अनुमान लगाया गया था।

इसी महीने में आ सकते है GDP तीसरी तिमाही के नतीजे

एसबीआई की आने वाली ताजा रिपोर्ट मे साफ कहा गया है कि तीसरी और चौथी तिमाही में जीडीपी बढ़ोतरी के बावजूद चालू वित्त वर्ष के दौरान भारत की अर्थव्यवस्था 7 फीसदी संकुचित हो सकती है। सुनने मे आ रहा है कि जीडीपी की तीसरी तिमाही के नतीजे भी इसी महीने में आने वाले हैं। जिसमें लोगों को बड़ी उम्मीदें हैं कि इस बार कोई अच्छी खबर ही आएगी।

SBI के समूह मुख्य अर्थिक सलाहकार ‘सौम्य कांति घोष’ ने कहा है कि 41 महत्वपूर्ण सूचकांकों में 51 फीसदी तेजी दिख रहा है, जिससे वित्त वर्ष की तीसरी तिमाही में GDP मे 0.3 फीसदी की बढ़ोतरी देखी जा सकती है। अब की बार की तीसरी तिमाही में ही GDP को positive दायरे मे आने का अनुमान लगाया जा रहा है। साथ ही यह भी कहा जा रहा है कि चौथी तिमाही में बढ़ोतरी सकारात्मक दिशा में लगभग 2.5 फीसदी हो सकती है।

वित्त वर्ष 2019-20 में GDP ग्रोथ 4 फीसदी रही

SBI रिसर्च ने अगले वित्त वर्ष 2021-22 मे अर्थिक वृद्धि 11 फीसदी रहने के अनुमान को बनाए रखा है। अर्थिक समीक्षा मे भी आने वाले साल की GDP ग्रोथ 11 फीसदी रहने का अनुमान लगाया गया है। जबकि भारत की रिजर्व बैंक 10.5 फीसदी रहने का अनुमान लगाया है। कोरोना काल की वज़ह से अप्रैल-सितंबर के दौरान अर्थव्यवस्था मे 15.7% संकुचन हुआ, लेकिन अगर SBI का विश्लेषण सत्य साबित हुआ तो दूसरी छमाही मे GDP 2.8% की दर से बढ़ सकती है। अगर आपको ज्ञात हो कि कोरोना की वज़ह मौजूदा वित्त वर्ष की पहली और दूसरी तिमाही में सबसे ज्यादा असर देखने को मिला था। पहली तिमाही में GDP मे 23.9 फीसदी गिरावट दर्ज की गई। जबकि दूसरी तिमाही में 7.5 फीसदी की गिरावट दर्ज की गई थी। इससे पहले वित्त वर्ष 2019-20 में GDP ग्रोथ 4 फीसदी रही थी।

यह भी पढ़ें: Netflix पर नए अंदाज में दिखेंगी Michelle Obama , Cooking Show में बनायेंगी खाना

Related Articles

Back to top button