देश का सबसे बड़ा बैंक कस्‍टमर्स पर मेहरबान, कर रहा तोहफों की बारिश

0

नई दिल्‍ली। भारतीय स्‍टेट बैंक ने तोहफों की भरमार लगा दी है। पहले छोटे ट्रांजेक्‍शन पर छूट दी और अब डिजिटल लेनदेन को बढ़ावा दिया है। इस फैसले से बैंक अपने कस्‍टमर्स को नेशनल इलेक्‍ट्रॉनिक फंड ट्रांसफर और रियल टाइम ग्रॉस सेटलमेंट में कटौती का फायदा दे रही है।

नेशनल इलेक्‍ट्रॉनिक फंड ट्रांसफर और रियल टाइम ग्रॉस सेटलमेंट में कटौती

नेशनल इलेक्‍ट्रॉनिक फंड ट्रांसफर और रियल टाइम ग्रॉस सेटलमेंट में कटौती से होगा फायदा

देश के सबसे बड़े बैंक ने इन चार्जेज में 75 फीसदी तक की बड़ी कटौती की है। यह कटौती 15 जुलाई से लागू हो जाएगी। हाल ही में बैंक ने आईएमपीएस तत्काल भुगतान सेवा हस्तांतरण पर  शुल्क समाप्त कर दिया है।

नेट बैंकिंग करने वालों को होगा फायदा

एसबीआई की ओर से की गई इस कटौती के बाद नेट बैंकिंग और मोबाइल बैंकिंग का इस्तेमाल करने वाले ग्राहकों को फायदा होगा। एसबीआई फिलहाल 10 हजार रुपए की NEFT पर ग्राहकों से 2 रुपए वसूलता है लेकिन अब इस कटौती के बाद चार्जेस घटकर 1 रुपए पर आ जाएंगे। साथ ही, इस पर 18 फीसदी जीएसटी वसूल किया जाएगा।

एसबीआई दे रहा तोहफा

एसबीआई ने छोटे डिजिटल लेनदेन को बढ़ावा देने के लिए 1,000 रुपये तक के आईएमपीएस तत्काल भुगतान सेवा हस्तांतरण पर शुल्क समाप्त कर दिया है। इससे पहले 1,000 रुपये तक के आईएमपीएस लेनदेन पर देय सेवाकर के साथ स्टेट बैंक प्रति लेनदेन 5 रुपये का शुल्क वसूल रहा था। इससे पहले भी एसबीआई ने 1 साल के लिए 1 करोड़ से कम राशि वाली फिक्स्ड डिपॉजिट पर ब्याज दरों को घटाकर 6.75 फीसद कर दिया था। यह दर 7 साल के निचले स्तर पर है। एसबीआई ने इस महीने की शुरुआत में 15 बेसिस प्वाइंट्स की कटौती की है।

loading...
शेयर करें