IPL
IPL

कुरान की 26 आयतों की याचिका SC ने की ख़ारिज, याचिकाकर्ता वसीम रिजवी पर लगा बड़ा जुर्माना

शिया वक्फ बोर्ड ( Shia Waqf Board ) के पूर्व अध्यक्ष वसीम रिज़वी ने इन आयतों में गैर मुस्लिमों के खिलाफ हिंसा और उनकी हत्या को प्रेरित करने वाली बातें लिखी होने की दलील दी थी। 

बतादें कि वसीम रिजवी का कहना है कि कुरान की 26 आयतों से आतंकवाद को बढ़ावा मिल रहा है। वसीम रिज़वी ने कहा कि इन आयतों को पढ़कर मुसलमान आतंकवाद और कट्टरता की ओर बढ़ रहे हैं। अपने दलील में रिजवी ने यह भी कहा था कि इन आयतों को मदरसों में इनकी शिक्षा पर रोक लगाई जाए। आगे कहा कि कुरान की आयतें प्रॉफिट मोहम्मद ( Prophet Mohammed ) पर आई थी। जिसके बाद उन्होंने अपने साथ रहने वालों को बताया था कि यह अल्लाह का संदेश है। लेकिन उनकी जिंदगी में इन सभी आयतों और कुरान को किताब की शक्ल में नहीं डाला गया था। बल्कि पहले और दूसरे खलीफा के वक्त में आयतें किताब की शक्ल में आई है।

Instant ख़बर | वसीम रिजवी मुसलमान कहलाने लायक नहीं, दिल्ली में धर्मगुरुओं का एलान | Instant ख़बर

वसीम रिजवी की इस हरकत और बयान के बाद देश के मुसलमानों के साथ उसके परिवार ने भी उसकी खिलाफत शुरू कर दी और बीवी बच्चों, भाई, बहन सभी ने उसका साथ छोड़ दिया। लेकिन वसीम रिजवी का कहना है कि वह अपने कदम से पीछे नहीं हटेगा। वसीम रिजवी की हरकत से शिया समुदाय ने भी उसे कब्रिस्तान में दफनाने से इनकार कर दिया है और सभी ने उसका साथ छोड़ दिया है।

यह भी पढ़े: UPSC Recruitment 2021: UPSC के इन पदों पर निकली वैकेंसी, बिना Exam के होगा Selection

Related Articles

Back to top button