वैज्ञानिकों ने वर्ष 2018 को बताया खतरनाक, कहा- थर्रा उठेगी पृथ्वी

0

नई दिल्ली: दुनिया के ख़त्म होने की कई बार खबरे आ चुकी हैं। कभी बताया जाता है कि कोई चट्टान पृथ्वी से टकराने वाला है तो कभी किसी की भविष्यवाणी से इस बात की चर्चे तेज हो जाते हैं। एक बार फिर कुछ इसी तरह के बात सुनने को मिली है। दरअसल, यूनिवर्सिटी ऑफ कोलोराडो के रोजर बिल्हम और यूनिवर्सिटी ऑफ मोंटाना के वैज्ञानिकों का कहना है कि पृथ्वी के घूमने की गति कम होने की वजह से वर्ष 2018 पृथ्वी के लिए काफी खतरनाक है।

दरअसल, वैज्ञानिकों का कहना है कि वर्ष 2018 में पृथ्वी के कई हिस्सों में भूकंप आने की संभावना है। उन्होंने इसका कारण पृथ्वी की गति कम होना बताया।

वैज्ञानिकों का कहना है कि पृथ्वी की घूमने की गति कम हो रही है और इस वजह से अगले साल यानी 2018 और उसके बाद दुनिया के कई हिस्सों में बड़े भूकंप आ सकते हैं।

वैज्ञानिकों ने बताया कि पृथ्वी की घूमने की गति प्रति दिन कुछ मिली सेकंड कम हो रही है। साथ ही वैज्ञानिकों का कहना है कि भूकंप से जुड़े खतरों के लिए 5 या 6 साल पहले अडवांस वॉर्निंग दी जा सकती है और दिन की लंबाई इस बारे में अहम भूमिका निभा सकता है। इसके जरिए डिजास्टर प्लानिंग की जा सकती है।

उन्होंने  कहा कि पिछली सदी में 5 बार ऐसा हुआ जब 7 तीव्रता के भूकंप आए। हर बार इन भूकंप का संबंध पृथ्वी के घूमने की रफ्तार से जुड़ा पाया गया। हालांकि, कई बार छोटे दिन होने पर इनमें कमी भी देखी गई। हालांकि उन्होंने यह नहीं बताया कि ये भूकंप पृथ्वी के किन हिस्सों में आएंगे।

loading...
शेयर करें