इंसान के इशारों पर काम करेगी ये चिप

0

chip

बीजिंग। चीन के झेजियांग प्रांत के वैज्ञानिकों ने मानव मस्तिष्क के समान कार्य करने वाली चिप का निर्माण किया है।

हांग्जो डियान्जी यूनिवर्सिटी और झेजियांग यूनिवर्सिटी के वैज्ञानिकों ने मिलकर इस विशेष चिप ‘डार्विन’ को विकसित किया है।

हांग्जो यूनिवर्सिटी के वैज्ञानिक मा डी ने बताया, “यह मानव मस्तिष्क की तंत्रिका तंत्र का अनुकरण करके कंप्यूटर कार्य को पूरा कर सकती है जिसमें न्यूरॉन्स सिनैप्सिस के माध्यम से एक दूसरे से जुड़े होते हैं।”

इस काली प्लास्टिक चिप का टुकड़ा एक सिक्के के 10वें भाग से भी छोटा है लेकिन इसमें दो हजार से अधिक न्यूरॉन्स और चार हजार सिनेप्सिस निहित हैं। इस चिप के द्वारा कंप्यूटर कम विद्युत उर्जा में अधिक काम कर सकता है।

मा ने बताया, “इस चिप का उपयोग रोबोट्स, हार्डवेयर तंत्र और मस्तिष्क-कंप्यूटर तंत्रों में किया जाएगा। फिलहाल यह चिप अपने प्रारंभिक चरण में है, इस पर अभी काफी काम किया जाना है।”

इससे पहले अमेरिका की बहुराष्ट्रीय कंपनी ‘आईबीएम’ ने ‘ट्रनार्थ’ नाम की मानव मस्तिष्क चिप को बनाया था। इसके बाद से चीन भी इस तरह की चिप को बनाने के लिए प्रतिबद्ध हो गया था।

‘डार्विन’ के विकास से चीन मस्तिष्क प्रेरित कंप्यूटिंग अनुसंधान के क्षेत्र में एक महत्वपूर्ण स्थान के रूप में चिह्नित हो गया है।

loading...
शेयर करें