वैज्ञानिकों ने कर डाला ऐसा आविष्कार, महिलाओं को इससे बचने की है जरूरत

0

मुंबई। क्या यह उस दौर का आगाज है जहां रोबोट इंसान की जगह ले लेंगे और आगे चलकर इंसान को अपने अस्तित्व के लिए संघर्ष करना होगा..? रोबोट, आज इंसानों का हर काम कर ले रहे हैं फिर चाहे वह किसी फैक्ट्री में उत्पाद निर्माण। अब विज्ञानिकों ने एक ऐसा रोबोट तैयार किया जिससे पुरुष को अपने महिला पार्टनर की जरुरत नहीं होगी।

robot_dressup

विज्ञानिकों ने एक ऐसा रोबोट (पीआर 2) तैयार किया है जो कपडे पहनने में इंसान की मदद कर सकता है। इस रोबोट में आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस (कृत्रिम बुद्धि) लगा हुआ है और इसे 11,000 लोगों पर प्रयोग किया जा चुका है। इस प्रयोग के बाद से नतीजे चुकाने वाले थे। प्रयोग के दौरान दूसरे रोबोट को भी इस्तेमाल किया गया था जिसमे अन्य रोबोटों ने मानव हाथ पर अधिक बल लगाया। उनमे मानव के हाथ पर कितना दबाव डालना है है इस बात का निर्देश नहीं होता है।

जबकि पीआर 2 रोबोट्स अन्य रोबोट से अलग है। इसमें लगे तंत्रिका नेटवर्क के जरिए इंसानी बाल के संपर्क में आते है अपने आप को सावधान कर लेता है और जरुरत के हिसाब से कपड़ो को पहनाता है।

अभी फिलहाल पीआर 2 रोबोट पर और प्रयोग जारी है। अभी उससे इंसान के सहूलियत के हिसाब से और भी कई खूबियों से तराशा जा रहा है।

अमेरिका में जॉर्जिया इंस्टीट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी के पीएचडी छात्र जैकोरी एरिक्सन ने कहा, लोग परीक्षण और त्रुटि का उपयोग करके नए कौशल सीखते हैं। हमने पीआर 2 को एक ही मौका दिया और इस रोबोट ने हासिल की है।

loading...
शेयर करें