SEBI नहीं है रिज़र्व बैंक जैसी सीधी, जानती है कैसे वसूलना है अपना रुपया

मुंबई : यस बैंक के एक्स एमडी और CEO राणा कपूर की मुश्किलें बढ़ती ही जा रही हैं। कई महीनों से जेल में बंद कपूर पर SEBI ने 1 करोड़ का फाइन लगाया था जिसे न चुका पाने की वजह से अब SEBI ने उनकी प्रॉपर्टी जब्त करने का आदेश देते हुए कपूर के बैंक अकाउंट, उनके शेयर्स और म्यूचुअल फंड्स को भी अटैच करने का हुक्म दिया है।

जानकारी न देना पड़ा भारी

आपको बताते चलें कि SEBI ने कपूर पर सितंबर, 2020 में 1 करोड़ रुपये का फाइन लगाया था। कपूर ने यस बैंक की अनलिस्टेड प्रमोटर कंपनी मॉर्गन क्रेडिट को किए गए ट्रांजैक्शन की जानकारी SEBI के साथ Yes Bank के बोर्ड ऑफ डायरेक्टर्स को नहीं दी थी। इसी वजह से कपूर पर यह फाइन लगाया गया था।और कहा था की यह यह SEBI के लिस्टिंग ऑब्लिगेशन एंड डिस्क्लोजर रिक्वायरमेंट (LODR) रेगुलेशन का उल्लंघन है।

यह भी पढ़ें : सोने का पिंजरा बन चुका है China,जहाँ सबकुछ है सिवाए लफ़्ज़ों की आज़ादी के

फरवरी में SEBI से नोटिस मिलने के बावजूद भी इन्होने यह फाइन नहीं भरा था। इसके बाद आज SEBI ने मूल रुपए पर बन रहे 4.56 लाख रुपये के इंटरेस्ट की रिकवरी के लिए राणा की प्रॉपर्टी को आत्ताच करने का आर्डर दे दिया है। SEBI ने बैंकों को निर्देश दिया है कि वे राणा कपूर के सभी बैंक अकाउंट और लॉकर को अटैच करें।

ब्याज वसूली में जाएगी प्रॉपर्टी

SEBI ने बैंकों को जारी किए अपने आदेश में कहा कि कपूर के बैंक अकाउंट और लॉकर, चाहें वे सिंगल अकाउंट हों या ज्वाइंट अकाउंट, इन्हें अटैच किया जाए। साथ ही SEBI ने सभी बैंकों, स्टॉक मार्केट की डिपोजिटरीज और म्यूचुअल फंड हाउस से कपूर के बैंक डिटेल्स, इनके शेयर और म्यूचुअल फंड इंवेस्टमेंट का ब्यौरा पिछले एक साल का ब्यौरा भी माँगा है।

यह भी पढ़ें : एग्जाम टेंशन करेगा कम GOOGLE का यह टूल

Related Articles