Covid-19 Vaccination का दूसरा चरण आज से शुरू, जानें सभी मुख्य बातें

आज से कोरोना टीकाकरण (Covid-19 Vaccination) के दूसरे चरण की शुरुआत हो चुकी है। अब 6o साल के ऊपर वाले बुज़ुर्गों को यह टीका लगाया जाएगा।

नई दिल्ली : देशभर में आज से कोरोना टीकाकरण (Covid-19 Vaccination) के दूसरे चरण की शुरुआत हो चुकी है। फ्रंटलाइन वर्करों (Frontline Workers) के बाद अब 6o साल के ऊपर वाले बुज़ुर्गों और किसी गंभीर बीमारी से जूझ रहे 45 साल के ऊपर वाले लोगों को यह टीका लगाया जाएगा। दूसरे चरण के टीकाकरण (Covid-19 Vaccination) के लिए केंद्र और राज्य सरकारों ने अच्छी तरह से अपनी कमर कस ली है।

पीएम मोदी ने लगवाई पहली डोज

देश के प्रधानमंत्री (Prime Minister) ने भी कोरोना के खिलाफ चल रहे वैक्सीनेशन अभियान में हिस्सा लिया। पीएम मोदी (PM Modi) आज सुबह-सुबह दिल्ली के एम्स अस्पताल (AIMS Hospital) पहुंचे और उन्होंने कोरोना वैक्सीन (corona vaccine) की पहली खुराक ली। साथ ही उन्होंने सभी देश वासियों से वैक्सीन लगवाने की अपील भी की है।

सरकार ने यह साफ़ कर दिया है कि सरकारी कोविड टीकाकरण केंद्रों पर टीकाकरण (Covid-19 Vaccination) का पूरा खर्च वही उठाएगी। साथ ही साथ सरकार ने इस बात की जानकारी भी दी है कि इन सभी सेंटर पर मुफ्त में वैक्सीन लगेगी। बता दें कि अब प्राइवेट अस्पतालों में भी टीकाकरण किया जाएगा। ऐसे निजी अस्पतालों में बने कोविद सेंटर्स पर वैक्सीन की एक डोज 250 रूपए की मिलेगी। लोग अपनी सुविधानुसार जाकर कहीं भी टीका लगवा सकते हैं।

कैसे कराएं रजिस्ट्रेशन

कोरोना टीकाकरण के लिए इस्तेमाल किए जा रहे को-विन2.0 पर रजिस्ट्रेशन सोमवार सुबह 9 बजे शुरू हो जाएगा। देशवासी कभी भी और कहीं भी टीकाकरण के लिए रजिस्ट्रेशन और बुकिंग इस पोर्टल का उपयोग करके कर सकेंगे या फिर आरोग्य सेतु जैसे एप्लीकेशन के माध्यम से कर सकेंगे।

स्वस्थ्य मंत्रलया (Helath Ministry) ने कहा कि प्रत्येक खुराक के लिए किसी भी लाभार्थी के लिए केवल एक ही अपॉइंटमेंट (appointment) होगा। किसी भी तारीख पर किसी भी कोविड टीकाकरण केंद्र के लिए अपॉइंटमेंट उस दिन दोपहर 3 बजे बंद कर दिए जाएंगे, जिसके लिए स्लॉट खोले गए थे। मंत्रालय का कहना है कि यदि कोई लाभार्थी पहली खुराक के लिए अपॉइंटमेंट रद्द करता है तो दोनों खुराक की अपॉइंटमेंट रद्द कर दी जाएंगी।

यह भी पढ़ें :

साथ रखें इनमें से कोई एक पहचान पत्र

दूसरे चरण के टीकाकरण के लिए सरकार ने 12 पहचानपत्रों की एक लिस्ट जारी की है। इस लिस्ट में आधार कार्ड, ड्राइविंग लइसेंस, स्वस्थ्य बीमा स्मार्ट कार्ड, मनरेगा जॉब कार्ड, मतदाता पहचानपत्र, पैन कार्ड, जनप्रतिनिधियों को जारी पहचानपत्र, बैंक/पोस्ट ऑफिस पासबुक, पासपोर्ट, पेंशन दस्तावेज, सरकारी कर्मचारियों का सेवा पहचानपत्र और राष्ट्रीय जनसंख्या रजिस्टर (एनपीआर) के तहत जारी स्मार्ट कार्ड शामिल हैं।

टीका लगवाने गए हर शख्स के पास इनमें से कोई भी एक पहचानपत्र होना अनिवार्य है। साथ ही साथ वैक्सीन लगवाने के लिए वैक्सीनेशन सेंटर पर उन्हें यह पहचानपत्र दिखाना भी होगा। जिसके बाद ही वैक्सीनेशन की प्रक्रिया आगे बढ़ेगी।

इन प्रमुख बीमारियों से पीड़ित लगवा सकते हैं टीका

  • पिछले 1 साल में हार्ट फेल होने की वजह से अस्पताल में भर्ती होना पड़ा हो।
  • पोस्ट कार्डियक ट्रांसप्लांट या लेफ्ट वेंट्रिकुलर असिस्ट डिवाइस (LVAD)
  • सिग्निफिकेंट लेफ्ट वेंट्रिकुलर सिस्टोलिक डिसफंक्शन (एलवीईएफ 40 परसेंट से कम)।
  • मॉडरेट और गंभीर वल्वुलर हार्ट बीमारी।
  • पीएएच या इडियोपैथिक पीएएच के साथ कॉन्जेनाइटल हार्ट बीमारी।
  • पहले सीएबीजी या पीटीसीए या एमआई और हाइपरटेंशन या डायबिटीज    का इलाज हुआ हो, कोरोनरी अर्टरी बीमारी की शिकायत रही हो।
  • एंजाइना और हाइपरटेंशन या डायबिटीज का इलाज हुआ हो।
  • डायबिटीज (10 साल से ज्यादा समय से) और हाइपटेंशन का इलाज चल रहा हो।
  • पिछले दो साल में सांस की गंभीर बीमारी के कारण हॉस्पिटल में भर्ती हुए हों।
  • इसके अलावा भी और कई बीमारियां जिससे पीड़ित व्यक्ति टीकाकरण में  शामिल हो सकता है।

Related Articles