भारत पहुंची Sputnik-V vaccine की दूसरी खेप, रूसी राजदूत बोले- नए स्ट्रेन के लिए कारगर

स्पूतनिक-वी वैक्सीन की दूसरी खेप आज हैदराबाद (Hyderabad) में पहुंच चुकी है, रूस के राजदूत निकोले कुदाशेव बोले- ये कोविड-19 के नए स्ट्रेन के लिए भी कारगर है

नई दिल्ली: देश में कोरोना वायरस (Corona Virus)  को मात देने के लिए बड़े स्तर पर टीकाकरण अभियान चलाया जा रहा है। जिसके लिए देश में लोगों को कोविशील्ड और भारत बायोटेक की कोवैक्सीन लगाया जा रहा है। अब इन दोनों वैक्सीन के साथ रूसी स्पूतनिक-वी वैक्सीन (Sputnik-V vaccine) का नाम भी जुड़ गया है। अब लोगों को रूसी स्पूतनिक-वी वैक्सीन की डोज भी दी जाएंगी। स्पूतनिक-वी वैक्सीन की दूसरी खेप आज हैदराबाद (Hyderabad) में पहुंच चुकी है।

नए स्ट्रेन के लिए कारगर

भारत में रूस (Russia) के राजदूत निकोले कुदाशेव ने बताया की स्पूतनिक-वी वैक्सीन का दूसरा बैच हैदराबाद (Hyderabad) में लैंड हो गया है। रूस के विशेषज्ञों ने इस बात की घोषणा की है कि ये कोविड-19 के नए स्ट्रेन के लिए भी कारगर है। रूसी राजदूत ने बताया कि भारत में एक खुराक वाली स्पूतनिक लाइट वैक्सीन के उत्पादन पर भी जोर दिया जाएगा। उन्होंने कहा कि रूसी के जानकारों ने इस वैक्सीन को कोरोना के नए स्ट्रेन के खिलाफ प्रभावशाली बताया है।

स्पुतनिक वी रूसी-भारतीय टीका

रूसी राजदूत निकोले कुदाशेव (Russian Ambassador Nikolay Kudashev) ने कहा कि, स्पुतनिक वी रूसी-भारतीय टीका है। हम उम्मीद करते हैं कि भारत में इसका उत्पादन धीरे-धीरे प्रति वर्ष 850 मिलियन खुराक तक बढ़ाया जाएगा। रूसी स्पूतनिक-वी वैक्सीन आने से वैक्सीनेशन में तेजी आएगी इसके साथ ही ज्यादा से ज्यादा लोगों को वैक्सीन  (Vaccine) भी लग पाएगी।

माइक्रोबायोलॉजी द्वारा विकसित

स्पूतनिक वी (Sputnik V)  कोविड-19 के लिए वायरल वेक्टर वैक्सीन है जिसे गेमालेया रिसर्च इंस्टीट्यूट ऑफ एपिडेमियोलॉजी एंड माइक्रोबायोलॉजी द्वारा विकसित किया गया है। 11 अगस्त 2020 को रूस के स्वास्थ्य मंत्रालय द्वारा गाम-कोविड-वेक स्पूतनिक वी एक एडिनोवायरस वायरल वेक्टर वैक्सीन है।

फरवरी 2021 को, द लैंसेट में परीक्षण से एक अंतरिम विश्लेषण प्रकाशित हुआ था, जिसमें असामान्य दुष्प्रभावों के बिना 91.6% प्रभावकारिता का संकेत दिया गया था। दिसंबर 2020 में रूस, अर्जेंटीना, बेलारूस, हंगरी, सर्बिया और संयुक्त अरब अमीरात सहित कई देशों में टीके का आपातकालीन बड़े पैमाने पर वितरण शुरू हुआ। फरवरी 2021 तक वैक्सीन की एक अरब से अधिक खुराक विश्व स्तर पर तत्काल वितरण के लिए आदेशित की गई थी।

यह भी पढ़े22 साल की युवती को Facebook पर मिले दोस्त ने पेरेंट्स से मिलने के बहाने बुलाया, 25 लोगों ने किया रेप

Related Articles

Back to top button