लखनऊ में लागू धारा 144, शादी समारोह व अन्य आयोजनों के लिए लेनी होगी अनुमति

देश भर में बढ़ते कोरोना संक्रमण को लेकर केंद्र सरकार चिंतित है, वही अब उत्तर प्रदेश सरकार ने भी कोरोना प्रसार की रोकथाम को लेकर बड़े शहरों में सख्त कदम उठाए हैं।

लखनऊ: देश भर में बढ़ते कोरोना संक्रमण को लेकर केंद्र सरकार चिंतित है, वही अब उत्तर प्रदेश सरकार ने भी कोरोना प्रसार की रोकथाम को लेकर बड़े शहरों में सख्त कदम उठाए हैं। अब राजधानी लखनऊ में प्रशासन ने कोरोना वॉयरस के लगातार बढ़ते संक्रमण व आगामी दिनों में त्यौहारों को लेकर आज बुधवार रात धारा 144 लागू कर दी है। इसकी मियाद 1 दिसंबर तक है। कोविड-19 के तहत ज्वाइंट पुलिस कमिश्नर नवीन अरोड़ा ने गाइडलाइन जारी करते हुए धारा 144 लागू कर दी है, और इसे सख्ती से पालन कराया जाएगा।

नवीन अरोड़ा ने बताया कि लखनऊ में कई राजनीतिक दलों एवं अन्य लोगो के प्रदर्शन करने की संभावना है और शहर भर में शांति व्यवस्था पर ये काफी प्रभाव पड़ सकता है। इस कारण आज ये फैसला लिया गया है। कोरोना वायरस के चलते शासन ने बीते एक अक्टूबर को जारी गाइड लाइन में संशोधन करते हुए 23-नवंबर को एक नई गाइडलाइन जारी की थी।

ये भी पढ़े : कॉल करने के बदले नियम, 1 जनवरी से नंबर में बिना ‘0’ डायल के नहीं लगेगी कॉल

कई त्योहार को ध्यान में रखते हुए लिया फैसला

उन्होंने बताया कि आगामी दिनों में कई त्योहार पड़ रहे है जिसको ध्यान में रखते हुए फैसला लिया है। इन कुछ दिनों में ग्यारहवीं शरीफ , कार्तिक पूर्णिमा समेत गुरु नानक जयंती के त्योहार मनाए जाएंगे। इन त्योहारों में असामाजिक तत्वों द्वारा शांति भंग पैदा करने की आशंका है। इस को ध्यान में रखते हुए कमिश्नर सिस्टम में कोई भी सामाजिक, शैक्षिक, खेल, मनोरंजन, सांस्कृतिक, धार्मिक, राजनीतिक कार्यक्रमों समेत अन्य सामूहिक गतिविधियों में 100 से अधिक व्यक्तियों की उपस्थिति नहीं होगी। अगर ऐसा होता है तो वहां की अनुमति शर्तों के अधीन होगी। जिसमें बंद स्थानों में या हॉल मे उपस्थित लोगों के लिए फेस मास्क, सोशल डिस्टेंसिंग, थर्मल  स्कैनिंग, हैंड वॉश समेत सैनिटाइजर की व्यवस्था उपलब्ध कराना आवश्यक होगा। वही खुले स्थानों में क्षेत्रफल के हिसाब से 40-प्रतिशत से भी कम लोगों की उपस्थिति ही मान्य होगी।

ये भी पढ़े : फुटबॉल लीजेंड डिएगो माराडोना का 60 वर्ष की उम्र में निधन

इस आदेश को तत्काल प्रभाव से किया गया लागू

नवीन अरोड़ा ने बताया कि इस आदेश को तत्काल प्रभाव से लागू कर दिया गया है, अगर इस आदेश में कोई संस्था या कोई पक्ष छूट चाहता है तो उसे पुलिस कमिश्नर संयुक्त, पुलिस कमिश्नर या पुलिस उपायुक्तो के सामने जाकर आवेदन करना होगा। अगर इस दौरान कोई आदेश जारी नहीं किया गया तो यह एक दिसंबर तक लागू रहेगा। निर्देश दिए गए आदेश का अगर कोई भी उल्लंघन करता है तो उसपर कड़ी कार्यवाई होगी।

Related Articles