IPL
IPL

वरिष्ठ नागरिक सम्मान मिलते ही चल बसे मास्टर मुरलीधर

गोरखपुर। जनपद में चल रहे पिपराइच महोत्सव के समापन के दिन संयोगवश हुई घटना पूरे जिले में चर्चित हो गई। समापन अवसर पर बतौर वरिष्ठ नागरिक सम्मान प्राप्त करने वाले सेवानिवृत्त शिक्षक मास्टर मुरलीधर शर्मा महज एक घंटे के भीतर चल बसे। उनकी उम्र नब्बे साल थी.वे कोआपरेटिव इंटर कालेज के सेवानिवृत शिक्षक थे।
स्थानीय लोगों के अनुसार मास्टर मुरलीधर शर्मा न केवल सबसे पुराने शिक्षक थे, बल्कि कालेज के छात्र भी थे। उनके सामाजिक योगदान और उम्र को देखते हुये उन्हें पिपराइच वरिष्ठ नागरिक सम्मान मिलना था। आज दोपहर बाद मास्टर मुरलीधर की तबीयत ज्यादा बिगड़ गई।

बेटे ने लिया सम्मान
मास्टर मुरलीधर के बेटे चिकित्सक डा. उमाशंकर शर्मा ने महोत्सव में पहुंचकर सम्मान प्राप्त किया। डा.शर्मा सम्मान पत्र और प्रतीक चिन्ह के साथ घर पहुंचे। करीब एक घंटे बाद मास्टर मुरलीधर का निधन हो गया।

महोत्सव का समापन
पहली बार आयोजित हुये तीन दिवसीय पिपराइच महोत्सव का समापन आज देर शाम तक हो गया। विधान परिषद के सभापति गणेश शंकर पांडेय ने सम्मान पत्र और प्रतीक चिन्ह का वितरण किया. इस अवसर पर पिपराइच रत्न, वरिष्ठ नागरिक और कर्मवीर सम्मान प्रदान किये गये.कार्यक्रम में संयोजक संतराज यादव, अध्यक्ष ओंकारनाथ गुप्ता और कार्यकारी अध्यक्ष रवि रामरायका समेत नगर से हजारों लोग मौजूद रहे.

 

Related Articles

Leave a Reply

Back to top button