बजट से पहले शेयर बाजार में दिखी तेजी, सेंसेक्स और निफ्टी ने लगाई ऊंची छलांग

0

नई दिल्ली: वित्त मंत्री अरुण जेटली की गैरमौजूदगी में वित्त मंत्रालय का कार्यभार संभाल रहे पीयूष गोयल शुक्रवार को मौजूदा नरेंद्र मोदी सरकार का अंतिम बजट अंतरिम बजट के रूप में पेश करने जा रहे हैं। इस बजट में सरकार के पांच साल के कार्यकाल की उपलब्धियों का लेखाजोखा आम चुनाव से पहले देश के सामने रखा जाएगा। भले ही बजट के पास होने में वक्त लगे लेकिन इसके पेश होते ही इसका सीधा असर सबसे पहले शेयर बाजार पर देखने को मिलता है। आइए जानते हैं कैसा है बजट से पहले कैसा है शेयर बाजार का हाल।


शुक्रवार को अंतरिम बजट पेश किए जाने से पहले  शेयर बाजार उछाल देखने को मिला।प्रमुख सूचकांक सेंसेक्स शुक्रवार सुबह 9.42 बजे 106.88 अंक उछलकर 36,363.57 पर और निफ्टी भी लगभग इसी समय 33.50 अंकों की तेजी के साथ 10,864.45 पर कारोबार करते देखे गए। बंबई स्टॉक एक्सचेंज (बीएसई) का 30 शेयरों पर आधारित संवेदी सूचकांक सेंसेक्स सुबह 55.05 अंकों की मजबूती के साथ 36,311.74 पर जबकि नेशनल स्टॉक एक्सचेंज (एनएसई) का 50 शेयरों पर आधारित संवेदी सूचकांक निफ्टी 20.4 अंकों की बढ़त के साथ 10,851.35 पर खुला।

चिदंबरम के अंतरिम बजट से बाजार रहा था बेअसर 

पांच साल पहले जब पी चिदंबरम ने वित्तमंत्री के रूप में यूपीए सरकार का आखिरी बजट पेश किया था उस दिन इसका असर शेयर बाजार पर ज्यादा असर नहीं पड़ा था। बीएसई 97 अंक बढ़कर 20,464 अंक के साथ बंद हुआ था। वहीं नेशनल स्टॉक एक्सचेंज का निफ्टी 25 अंक की बढ़ोत्तरी के साथ 6,073 अंक पर बंद हुआ था। बीएसई में 1373 कंपनियों के शेयरों में गिरावट जबकि 1,235 शेयरों में बढ़ोत्तरी दर्ज की गई थी। जबकि 157 शेयरों की स्थिति में कोई बदलाव नहीं हुआ था।

मोदी सरकार के पहले बजट का ऐसा था बाजार पर असर 

10 जुलाई 2014 को नरेंद्र मोदी सरकार द्वारा पेश किया गया पहला आम बजट शेयर बाजार को रास नहीं आया था। बॉम्बे स्टॉक एक्सचेंज का सेंसेक्स 72 अंक की गिरावट के साथ बंद हुआ।

मोदी सरकार का दूसरा बजट बाजार की उम्मीदों पर उतरा खरा 

28 फरवरी 2015 को बीएसई का सेंसेक्स करीब 400 अंकों की बढ़त के साथ 29,361 पर बंद हुआ था। मोदी सरकार के पहले बजट की तुलना में दूसरे बजट को बाजार ने हाथोंहाथ लिया था।

loading...
शेयर करें