भारत और अमेरिका के बीच सुरक्षा मामलों में हुए कई समझौते

नई दिल्ली: भारत और अमेरिका के बीच हुए टू प्लस टू मीटिंग में कई मुद्दों पर समझौते हुए जिससे भारत के दुश्मनों के लिए खासी परेशानी होने वाली हैं। मंगलवार को अमेरिका और भारत के बीच बेसिक एक्सचेन्ज कॉरपोरेशन अग्रीमेंट (BECA) समझौते के संग कुल पांच समझौतों पर हस्ताक्षर हुए और कई जरूरी मद्दे पर बात हुई।

भारत-अमेरिका के बीच हुए इस तीसरे टू प्लस टू वार्ता में भारत के रक्षामंत्री राजनाथ सिंह और विदेश मंत्री एस. जयशंकर, अमेरिकी विदेश मंत्री माइक पोम्पियो और अमेरिकी रक्षामंत्री मार्क एस्पर के बीच हुई और उन्होंने साझा प्रेस कांफ्रेंस किया

बीईसीए समझौते के तहत भारत और अमेरिका के बीच सुरक्षा मामलों में साझेदारी बढ़ेगी और दोनों देश नक्शें, नेविगेशन, और सुरक्षा संबंधी मामलों में एक दूसरे का सहयोग करेंगे। भारत से सटे सीमावर्ती देश चीन और पाकिस्तान को इस समझौते से सबसे ज्यादा परेशानी होने वाली है क्युंकि अब भारत अमेरिकी सेटेलाइट्स की मदद से अपनी सीमा पर आसानी से नजर रख सकता है।

इस कांफ्रेंस में कई महत्वपूर्ण मसलों पर भारत औऱ अमेरिका के बीच बातचीत हुई। बीईसीए के साथ साथ परमाणु सहयोग, उपमहाद्वीप में सुरक्षा पर नजर, आयुर्वेद और कैंसर रिसर्च में सहयोग जैसे कई मुद्दों पर एक दूसरे को सहयोग करने के लिए दोनों देश प्रतिबद्ध हुए।

भारत के रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने कहा कि दोनों देशों के रक्षा क्षेत्र में निवेश करने से देश की सुरक्षा में दृढ़ता आएगी और इससे भारत के आत्मनिर्भर होने के सपने को भी बल मिलेगा।

अमेरिका विदेश मंत्री मार्क एस्पर ने कहा कि इस वक्त जो परिस्थितियां चल रहीं हैं ऐसे में इन दो देशों के बीच बढ़ती दोस्ती पूरे एशिया के लिए ही नहीं बल्कि पूरी दुनिया के लिए महत्वपूर्ण है। चीन की तरफ से दुनिया के लिए खतरा बढ़ता जा रहा है इसलिए दुनिया के सारे बड़े देशों को साथ आना होगा।

यह भी पढ़ें: क्या ट्रम्प का भारत के खिलाफ बड़ बोलापन अमेरिकी चुनाव में उनके लिए परेशानी खड़ा करेगा

Related Articles

Back to top button