IPL
IPL

भारत की पहली Sex Toy Shop पर लगा ताला, जानिए वजह ?

सेक्स टॉय शॉप भारत की पहली सेक्स टॉय शॉप है जो कि गोवा के कैलनगेउत में कामा गिजमोस नाम से खोली गई थी जिसका उद्घाटन वेलेंटाइन्स वीक के दौरान हुआ था।

पणजी: गोवा में देश की पहली सेक्स टॉय शॉप खोली गई, जिस पर 1 महीने के भीतर ही ताला लग गया इसकी वजह स्थानीय पंचायत को बताया गया है। पंचायत ने सेक्स टॉय शॉप ( Sex Toy Shop ) पर सख्त रूप से आपत्ति जताई थी जिसके बाद दुकान मालिक को मजबूरन दुकान को बंद करना पड़ा।

आपको बता दें की ये सेक्स टॉय शॉप ( Sex Toy Shop ) भारत की पहली सेक्स टॉय शॉप है जो कि गोवा के Calangute में कामा गिजमोस नाम से खोली गई थी। जिसका उद्घाटन वेलेंटाइन्स वीक के दौरान हुआ था। एक मीडिया रिपोर्ट के अनुसार दुकान खुलते ही इसका विरोध शुरू हो गया था इसकी शुरुआत स्थानीय पंचायत ने की थी पंचायत द्वारा यहां बिकने वाले सामानों पर उसने आपत्ति जाहिर की थी।

कैलंगूट ( Calangute  ) ग्राम पंचायत के सरपंच दिनेश सिमेपुरुशकर ने मीडिया से कहा, “इस स्टोर की एक न्यूज क्लिप वायरल होने के बाद पंचायत को इसकी मौखिक शिकायत मिली थीं। क्योंकि यह शॉप लोकप्रिय पर्यटन स्थल के बाजार में है। इसके बाद हमने स्टोर के साइन बोर्ड को हटा दिया। साथ ही उनके पास ट्रेड लाइसेंस भी नहीं है। सरपंच ने कहा दुकान मालिक सेक्स से संबंधित सामान बेच रहे थे और हमें पुरुष ही नहीं बल्कि महिलाओं द्वारा भी इनके खिलाफ शिकायत मिली थी लोगों ने उनके खिलाफ सोशल मीडिया पर भी आवाज उठाई थी क्योंकि यह दुकान एक गली में है इसलिए पहले लोगों की नजर इस पर नहीं पड़ सकी, उन्होंने कहा हम इस तरह की कोई भी गतिविधि को गोवा में नहीं होने देना चाहते हैं।

पंचायत अधिकारी ने कहा

अब इस पर कामाकार्ट के अधिकारियों ने कहा है कि सेक्स टॉय शॉप के लिए लाइसेंस लेने की प्रक्रिया चल रही है और इसलिए पंचायत ने कुछ दिनों के लिए दुकान बंद रखने को कहा है। हालांकि, उन्होंने यह भी आरोप लगाया कि उन्हें इसलिए निशाना बनाया जा रहा है क्योंकि वे गोवा के स्थानीय निवासी नहीं हैं। पंचायत अधिकारी ने कहा, “अब हमने स्टोर के मालिकों से कहा है कि वे सभी जरूरी कानूनी दस्तावेज बनवाएं।” इसके बाद दुकान मालिकों ने उम्मीद जताई है की उनकी दुकान दोबारा खुल सकेगी।

यह भी पढ़े: UP Panchayat Election: आरक्षण सूची को अंतिम रूप देने के काम पूरा, जानिए कब होगा सार्वजनिक

Related Articles

Back to top button