शबनम ने नम आंखों से अपने बेटे को दी ऐसी नसीहत जो कोई मां अपने बेटे से नहीं कहती

उत्तर प्रदेश: अमरोहा जिले की रहने वाली शबनम की पूरे देश में चर्चा हो रही है। आजाद भारत के बाद शबनम ऐसी महिला हैं जिन्हें फांसी दी जाएगी। शबनम की फांसी को लेकर तैयारियां चल रही है। इसी बीच शबनम ने रामपुर जेल में अपने बेटे से मुलाकात की। मुलाकात के दौरान शबनम अपने बेटे को गले लगाकर फूट-फूटकर रोने लगी। बताया जा रहा है कि इन दोनों के बीच लगभग एक घंटे तक मुलाकात हुई।

फूट-फूटकर रोईं शबनम

रामपुर जेल में शबनम का बेटा लालन-पालन करने वालों के साथ अपनी मां से मिलने पहुंचा। शबनम और उसके बेटे के बीच लगभग एक घंटे मुलाकात हुई। इस दौरान शबनम ने अपने बेटे को गले लगा लिया और फूट-फूटकर रोने लगी।

शबनम का बेटा
शबनम का बेटा

बेटे को दी नसीहत

हर मां की इच्छा होती है कि उसका बेटा बड़ा होकर उन्ही की तरह बने। लेकिन शबनम ने अपने बेटे से जेल में मुलाकात के दौरान ऐसी नसीहत दी है। जो शायद ही कोई मां अपने बेटे से ये बात कहती हो। दरअसल शबनम ने बेटे से मुलाकात के दौरान नसीहत देते हुए कहा तुम मेरी चिंता नहीं करना, अच्छे से खाना, मन लगाकर पढ़ाई-लिखाई करना, मेरे नसीब में जो होगा वो होगा, तुम बड़े होकर अच्छा इंसान बनना। इसके अलावा शबनम ने नम आंखों से कहा कि बेटा, तुम मेरी परछाई से दूर रहना।

क्या था पूरा मामला?

शबनम अमरोहा जिले के हसनपुर क्षेत्र के बावनखेड़ी गांव की रहने वाली थी। शबनम को सलीम से प्यार हो गया था। दोनों के संबंधों को लेकर परिजन नाराज थे और उनके संबंध को स्वीकार नहीं कर रहे थे। ऐसे में शबनम ने 14 अप्रैल 2008 की रात अपने प्रेमी सलीम के साथ मिलकर अपने माता-पिता समेत परिवार के 7 लोगों को कुल्हाड़ी से काटकर हत्या कर दी थी। इसी मामले में शबनम को अब फांसी होनी है। जिसको लेकर मथुरा जेल में तैयारियां चल रही हैं। हालांकि अभी डेथ वारंट नहीं जारी किया गया है।

यह भी पढ़ें: Rohit Sharma ने पिच पर उठ रहे सवालों का दिया करारा जवाब, एक्सपर्ट को लेकर दी नसीहत

Related Articles

Back to top button