Corona महामारी के बीच साइंटिफिक एडवाइजर ग्रुप के चेयरमैन शाहिद जमील ने दिया इस्तीफ़ा

नई दिल्ली: देश Corona संक्रमण की दूसरी लहर से उबरने को है और तीसरी लहर के खतरे की संभावनाओं से सचेत है. इसी बीच खबर है की केंद्र सरकार द्वारा कोरोना महामारी को लेकर गठित साइंटिफिक एडवाइजर ग्रुप के चेयरमैन पद से वरिष्ठ वायरोलॉजिस्ट डॉ शाहिद जमील ने इस्तीफा दे दिया है. शाहिद जमील ने रविवार को भारतीय SARS-CoV-2 जीनोमिक्स कंसोर्टियम (INSACOG) के वैज्ञानिक सलाहकार ग्रुप के चेयरमैन के पद से रिजाइन कर दिया. हालांकि अभी तक इस बारे में कोई जानकारी नहीं मिली है कि डॉ शाहिद जमील ने फोरम के मुख्य सलाहकार का पद आखिर क्यों छोड़ा है.

शाहिद जमील को केंद्र सरकार ने अहम दी थी जिम्मेदारी

बता दें कि सीनियर वायरोलॉजिस्ट शाहिद जमील Corona महामारी को लेकर सेन्ट्रल गवर्नमेंट द्वारा बनाए स्पेशल साइंटिफिक एडवाइजर ग्रुप के सदस्य थे. इस सलाहकार ग्रुप के ऊपर वायरस के जीनोम स्ट्रक्चर की पहचान करने की जिम्मेदारी थी. कोरोना महामारी के बीच डॉ शाहिद जमील को केंद्र सरकार ने अहम जिम्मेदारी दी थी. उनको केंद्र सरकार ने SARS-CoV-2 वायरस के जीनोम स्ट्रक्चर की पहचान करने वाले वैज्ञानिक सलाहकार ग्रुप का प्रमुख बनाया था. फिलहाल उन्होंने रविवार को इस पद को छोड़ दिया.

केंद्र सरकार को वैज्ञानिकों की बात सुननी चाहिए : डॉ जमील

गौरतलब है कि वे अशोका यूनिवर्सिटी में त्रिवेदी स्कूल ऑफ बायोसाइंस के निदेशक भी हैं. हाल में उन्होंने न्यूयॉर्क टाइम्स में एक लेख लिखा था. इस लेख में डॉ शाहिद जमील ने कहा था कि भारत में वैज्ञानिकों को ‘साक्ष्य-आधारित नीति निर्माण के लिए जिद्दी प्रतिक्रिया’ का सामना करना पड़ रहा है. डॉ शाहिद जमील ने केंद्र सरकार को भी सलाह दी थी और लिखा था कि उनको वैज्ञानिकों की बात सुननी चाहिए और पॉलिसी बनाने में जिद्दी रवैया छोड़ना चाहिए.

लेख के माध्यम से Covid Virus के नए वैरिएंट पर दिलाया था ध्यान

इस लेख में सीनियर वायरोलॉजिस्ट शाहिद जमील ने Covid Virus के नए वैरिएंट की ओर भी ध्यान दिलाया था. उन्होंने लिखा था, एक वायरोलॉजिस्ट के तौर पर मैं पिछले साल से ही कोरोना वायरस और वैक्सीनेशन पर नजर बनाए हुए हूं. मेरा मानना है कि कोरोना संक्रमण के कई वैरिएंट्स फैल रहे हैं. ये वैरिएंट्स ही कोरोना की अगली लहर के लिए जिम्मेदार हो सकते हैं.

ये भी पढ़ें : चक्रवात ने लिया खतरनाक रुप, मुंबई एयरपोर्ट ( Mumbai Airport ) पर ऑपरेशन बंद

Related Articles