शराब के नशे में सेल्फी लेने के दौरान 800 फुट की ऊंचाई से गिरकर मरे भारतीय दंपति

0

सेल्फी लेना कभी कभी महंगा पड़ जाता है कैलिफॉर्निया के योसेमाइट नैशनल पार्क में पिछले साल अक्तूबर में कथित तौर पर सेल्फी लेने के दौरान 800 फुट नीचे खाई में गिरकर मरने वाले भारतीय दंपती इस दुखद घटना के वक्त शराब के नशे में थे। ऑटोप्सी रिपोर्ट में इसका खुलासा हुआ है।  रिपोर्ट के मुताबिक, 29 साल के विष्णु विश्वनाथ और 30 वर्ष की उनकी पत्नी मीनाक्षी मूर्ति नैशनल पार्क के टफ्ट पॉइंट से गिरने से पहले “इथाइल अल्कोहल के नशे में थे।” हालांकि उनके शरीर में कोई ड्रग्स नहीं पाया गया। इथाइल अल्कोहल, अल्कोहल युक्त पेय पदार्थों जैसे बीयर, वाइन और शराब में पाया जाता है।


काउंटी कोरोनर ने सहायक मारिपोसा एंड्रिया स्टीवर्ट ने बताया कि इतनी ऊंचाई से गिरने पर दोनों के शवों की स्थिति के कारण, जांचकर्ता नशे के वास्तविक स्तर का सटीक रूप से पता नहीं लगा पाए। कैलिफोर्निया के सैन जोस में प्रकाशित होने वाले एक स्थानीय अखबार मर्करी न्यूज के मुताबिक स्टीवर्ट ने कहा, “हम सिर्फ इस निष्कर्ष पर पहुंच सके हैं कि वे शराब पी रहे थे और उनके शरीर में शराब मौजूद थी। हम नहीं जानते कि वह कितना होगा।”

दोनों ने 2014 में शादी की थी। दोनों ने केरल के चेंगन्नुर के कॉलेज ऑफ इंजिनियरिंग से सॉफ्टवेयर इंजिनियर की पढ़ाई की थी। विश्वनाथ एक सॉफ्टवेयर इंजीनियर थे और सिस्को इंडिया में कंपनी के मुख्यालय सिलिकॉन वैली में काम कर रहे थे।विश्वनाथ ने अपने फेसबुक पेज पर दोनों की ग्रैंड कैन्यन की एक चट्टान के किनारे पर मुस्कराती हुई तस्वीर पोस्ट की थी। इस जोड़े ने सोशल मीडिया पर अपनी रोमांचक यात्रा के बारे में पोस्ट डाला था। वे ‘हॉलिडेज ऐंड हैपिली एवर आफ्टर्स’ नाम के ब्लॉग में दुनिया भर में अपनी यात्रा के अनुभवों के बारे में लिखते थे।

विष्णु के भाई जिश्नु ने बताया था कि वे सेल्फी ले रहे थे। जिश्नु ने बताया कि मूर्ति ने सेल्फी से पहले ट्राइपॉड को अजस्ट किया था। यह विडंबना है कि खुद कुछ महीने पहले मूर्ति ने लोगों को खतरनाक किनारों और गगनचुंबी इमारतों से फोटोग्राफ न लेने की सलाह दी थी, लेकिन सेल्फी लेने के दौरान उनकी मौत हो गई।

loading...
शेयर करें