समलैंगिकता : शशि थरूर ने जताई खुशी, कहा- बेडरूम में सरकार के लिए कोई जगह नहीं

0

नई दिल्ली : सुप्रीम कोर्ट के समलैंगिकता को अपराध नहीं करार देने के फैसले को कांग्रेस सांसद शशि थरूर ने ‘आजादी की सुबह’ करार दिया और कहा कि बेडरूम में सरकार के लिए कोई जगह नहीं है।

शीर्ष अदालत द्वारा भारत में एलजीबीटीआईक्यू के पक्ष में फैसला सुनाए जाने पर प्रतिक्रिया देते हुए थरूर ने कहा कि इस ऐतिहासिक फैसले को सुनकर वह बहुत खुश हैं।

थरूर ने कहा, “हमने सरकार को अपनी निजी जिंदगियों में तांकझांक करने की इजाजत दी थी लेकिन शीर्ष न्यायालय लोगों की गरिमा को बरकरार रखने के साथ खड़ा है। यह सेक्स नहीं है, यह आजादी है क्योंकि सरकार के लिए बेडरूम में कोई जगह नहीं है, यह वयस्कों के बीच होने वाले निजी कृत्य हैं। यह आजादी की सुबह है।”

थरूर ने कहा कि लोकसभा में उन्होंने दो मौकों पर निजी विधेयक लाने का प्रयास किया लेकिन बीजेपी सदस्यों द्वारा उन्हें ऐसा नहीं करने दिया गया।

थरूर ने कहा, “तब मैंने कहा था कि केवल न्यायपालिका ही ऐसा कर सकती है और यह फैसला उन भाजपा नेताओं के लिए शर्म की बात है, जिन्होंने इसका विरोध किया था।” एलजीबीटीआईक्यू कार्यकर्ता आर. रेनजु ने इस ऐतिहासिक फैसले पर खुशी जताई और शीर्ष अदालत की सराहना की।

ये भी पढ़ें…..इस राज्य के बच्चों को मिलेगी डिजिटल शिक्षा, 100 सरकारी स्कूल बनेंगे स्मार्ट

उन्होंने कहा, “एक भारतीय होने के नाते मैं हमेशा गर्व महसूस करता हूं और अब हम 27वें देश बन गए हैं, जिसने समलैंगिकता को वैध किया है। अब मुझे भारतीय होने पर और भी ज्यादा गर्व है।”

loading...
शेयर करें