कभी न भरने वाला घाव दे गईं शम्मी आंटी: शेखर सुमन

0

मुंबई: अभिनेता शेखर सुमन ने कहा कि शम्मी आंटी के अचानक हुए निधन से वह व्यथित हैं और यह कभी न भरने वाला घाव ह। उन्होंने कहा कि शम्मी आंटी ने ही उनका परिचय शशि कपूर से करवाया था और उसके बाद शशि जी ने मुजे फिल्म ‘उत्सव’ में मौका दिया था।

शेखर टेलीविजन धारावाहिक ‘देख भाई देख’ में शम्मी आंटी के साथ काम कर चुके हैं। नरगिस रबादी, जो मनोरंजन उद्योग में ‘शम्मी आंटी’ के नाम से लोकप्रिय हैं, उनका सोमवार देर शाम निधन हो गया।

शेखर ने ट्वीट कर कहा, “शम्मी आंटी चली गई। उनके निधन से मेरे जीवन में एक खालीपन आ गया है। मुझे नहीं पता कि उनके बिना जिंदगी कैसी होगी। उन्होंने मुझे शशि कपूर से मिलाया, उन्होंने ऐतिहासिक फिल्म ‘उत्सव’ के लिए चुना। गुडबाय शम्मी आंटी।”

 उन्होंने कहा, “मुझे याद है ‘देख भाई देख’ में शम्मी आंटी ने मेरी सास की भूमिका निभाई। हमने बहुत मजे किए, ‘तेरे मुंह में कीड़े तेरे मुंह में धूल’ लव यू। हमेशा याद करेंगे।”

शम्मी आंटी का ओशिवारा कब्रिस्तान में अंतिम संस्कार किया गया, जिसमें आशा पारेख, फरीदा जलाल, बमन ईरानी, फराह खान, अन्नू कपूर और प्रिया दत्त जैसे कलाकार शरीक हुए।

सुपरस्टार आमिर खान ने अपनी संवेदनाएं देते हुए कहा, “शम्मी आंटी का निधन फिल्म-उद्योग के लिए दुखद है। अपने परिवार और करीबी दोस्तों के लिए हार्दिक संवेदना। मैं हमेशा अपने काम का प्रशंसक रहा हूं और उनकी उपस्थिति को याद करूंगा।”

शम्मी ज्यादातर हास्य भूमिकाओं में नजर आईं हैं। वह ‘कुली नंबर वन’, ‘मर्दो वाली बात’ और ‘शिरीन फरहाद की तो निकल पड़ी’ जैसी फिल्मों में भी नजर आईं।

 

loading...
शेयर करें