भाजपा ने पीडीपी से तोड़ा नाता, तो भड़क उठी शिवसेना, लगा दिया बड़ा आरोप

0

मुंबई: अगले वर्ष होने वाले लोकसभा चुनाव के चलते एक तरफ जहां केंद्र की सत्तारूढ़ राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन (राजग) की अगुआ भाजपा खफा चली रही अपनी पूर्व घटक शिवसेना को मनाने की कवायद में जुटी है। वहीं शिवसेना भाजपा पर हमला करने का कोई भी मौका नहीं छोड़ रही है। इसी क्रम में अभी हाल ही में जम्मू-कश्मीर की महबूबा सरकार से भाजपा द्वारा गठबंधन तोड़ने को लेकर भी शिवसेना ने निशाना साधा है। शिवसेना का कहना है कि भाजपा ने जो कश्मीर में किया, इतिहास उसे कभी माफ़ नहीं करेगा।

शिवसेना ने गुरुवार को अपने मुखपत्र सामना के संपादकीय के माध्यम से भाजपा को आड़े हाथों लेते हुए कहा है अराजकता फैलाने के बाद भगवा दल जम्मू-कश्मीर में सत्ता से बाहर हो गया और उसने जो लालच दिखाया है, उसके लिए इतिहास उसे कभी माफ नहीं करेगा।

इसके अलावा शिवसेना ने भाजपा के कदम की तुलना अंग्रजों के भारत छोड़कर जाने से भी कह दी।  शिवसेना ने कहा कि जब भाजपा इस उत्तरी राज्य में आतंक और हिंसा पर लगाम नहीं लगा पाई तो उसने इसका ठीकरा पीपुल्स डेमोक्रेटिक पार्टी (PDP) पर फोड़ दिया।

पार्टी ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर भी हमला बोलते हुए कहा कि देश चलाना बच्चों का खेल नहीं है। जम्मू-कश्मीर में PDP के साथ सत्तारूढ़ गठबंधन से भाजपा ने पिछले दिनों समर्थन वापस ले लिया था जिसके कारण महबूबा मुफ्ती को मुख्यमंत्री पद से इस्तीफा देना पड़ा था। इसके बाद, बुधवार को राज्य में राज्यपाल शासन लगा दिया गया था। बीते एक दशक में यह चौथी बार था जब यहां राज्यपाल शासन लगाया गया।

अपने मुखपत्र सामना के संपादकीय में लिखा गया है कि घाटी में अराजकता फैलाने के बाद भाजपा कश्मीर में सत्ता से बाहर चली गई। वहां हालात कभी भी इस हद तक नहीं बिगड़े थे। इतने बड़े स्तर पर खून की नदियां कभी नहीं बहीं थी और पहले कभी इतनी बड़ी संख्या में जवान शहीद नहीं हुए थे। यह सब घाटी में भाजपा के शासन में हुआ।

हालांकि शिवसेना ने यह भी कहा कि इसका दोष PDP नेता महबूबा मुफ्ती पर मढ़ दिया गया और भगवा दल एक सज्जन पुरूष की तरह सत्ता से बाहर हो गया। संपादकीय में लिखा कि कश्मीर की सरकार लालच के कारण बनी थी। इस लालच की बहुत बड़ी कीमत देश को, जवानों को और कश्मीर के लोगों को चुकानी पड़ी। इसके लिए इतिहास भाजपा को कभी माफ नहीं करेगा।

loading...
शेयर करें