‘हिंदू पाकिस्तान’ पर राहुल से माफी की चाह, तो क्या ‘रेप मामले में श्री राम’ पर क्षमा मांगेंगे शाह?

नई दिल्ली। शिवसेना ने एक बार फिर भाजपा को निशाने पर लेते हुए काफी कुछ कह डाला। शिवसेना ने रेप मामले में भगवान राम वाले भाजपा विधायक के बयान को मुद्दा बनाया। मामले को उठाते हुए उन्होंने सवाल किया कि भाजपा अध्यक्ष अमित शाह क्या इस मामले में माफी मांगेंगे। दरअसल यह मुद्दा शिवसेना ने शशि थरूर के ‘हिंदू पाकिस्तान’ वाली टिप्पणी पर राहुल गांधी के माफी मांगने की बात पर उठाया।

बाबर की बाबरी या अयोध्या के राम? अब फैसला आने में…

भाजपा को निशाने पर

उन्होंने कहा कि शशि थरूर का दिया गया बयान भाजपा से ही प्रेरित है। यह आरएसएस का एजेंडा है। इसे फॉलो करते हुए ही ‘हिंदू पाकिस्तान’ वाला बयान दिया गया।

खबरों के मुताबिक़ उत्तर प्रदेश से भाजपा विधायक सुरेंद्र नारायण सिंह ने कहा था कि भगवान राम भी आ जाएं तो बलात्कार की घटनाएं नहीं रुकेंगी। वहीं थरूर ने कहा था कि यदि भाजपा 2019 का (लोकसभा) चुनाव जीतती है तो, भारत ‘हिंदू पाकिस्तान’ बना जाएगा।

फटाफट यहां खरीदिए जमीन, छह हजार फीट से भी ज्‍यादा ऊंचाई…

संक्षेप में, यदि (नरेंद्र) मोदी दोबारा सत्ता में आते हैं तो भारत को हिंदू राष्ट्र घोषित कर दिया जाएगा।

शिवसेना ने कहा, ‘भाजपा थरूर की टिप्पणी पर कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी से माफी चाहती है। लेकिन यह समझे जाने की जरूरत है कि थरूर भाजपा की ही भाषा बोल रहे हैं।’

संपादकीय में कहा गया है कि भाजपा के यूपी से विधायक सुरेंद्र नारायण सिंह ने कहा था कि भगवान राम भी आ जाए तब भी बलात्कार की घटनाओं पर नियंत्रण नहीं हो पाएगा। उनका बयान हिंदुओं का अपमान है। इस मामले भाजपा अध्यक्ष को माफी नहीं मांगनी चाहिए।

शिवसेना ने अपने मुखपत्र सामना के संपादकीय में कहा, ‘यह आरएसएस का एजेंडा है, जिसे थरूर ने कांग्रेस के मंच से व्यक्त किया है।’

Related Articles