कासगंज में कक्षा 11 की छात्रा शिवा शाक्य बनी एक दिन की थाना प्रभारी

मिशन शक्ति अभियान के तहत कासगंज और शामली के नौ थानों में एक दिन की महिला थाना प्रभारी बनी छात्राएं

एटा: उत्तर प्रदेश सरकार के मिशन शक्ति के तहत एटा में कक्षा 11 की छात्रा को एक दिन के लिये थाने का प्रभार दिया गया। इस दौरान छात्रा ने फरयादियों की समस्याओं को सुना और महिला सशक्तिकरण के प्रति लोगों को जागरूक भी किया।

बीटिया का सपना (आईएएस)

अधिकृत सूत्रों ने बताया कि एल आर इण्टर कॉलेज सरावल में कक्षा 11 की छात्रा शिवा शाक्य को सिढ़पुरा थाने में एक दिन की थानेदार बनाया गया। होनहार छात्रा ने थानेदार की कुर्सी पर बैठकर फरियादियों की समस्याएं सुनी और उनका निस्तारण किया। शिवा शाक्य ने बताया कि आज की थानेदार बनने से अति प्रसन्न है। भविष्य में महनत से तैयारी कर आईएएस बनना चाहती है।

शामली के नौ थानों में महिला थाना प्रभारी

उत्तर प्रदेश सरकार के मिशन शक्ति अभियान के अन्तर्गत शुक्रवार को विश्व बाल दिवस के अवसर पर शामली जिले के सभी थानों में युवतियों को एक दिन की महिला थाना प्रभारी बनाया गया। इस दौरान उन्होने फरयादियों की समस्याओं को सुना और महिला सशक्तिकरण के प्रति लोगों को जागरूक भी किया।

हिन्दु महिला महाविद्यालय की छात्रा

पुलिस अधीक्षक नित्यानंद रॉय ने बताया कि जिले के सभी नौ थानों में युवतियों को एक दिन की महिला थाना प्रभारी बनाया गया। शहर के थाना झिंझाना, कैराना, कांधला व थानाभवन, गढ़ी पुख्ता, बाबरी के अलावा शामली कोतवाली सहित सभी थाना प्रभारी युवतियों ने लोगों की समस्याओं को सुना। शहर कोतवाली में शहर के हिन्दु महिला महाविद्यालय की बीए तृतीय वर्ष की छात्रा महिमा बजाज को थाना प्रभारी बनाया गया।

पुलिस अधीक्षक का बयान

इस दौरान मौके पर पहुंचे पुलिस अधीक्षक नित्यानंद राय व अपर पुलिस अधीक्षक राजेश कुमार श्रीवास्वत ने युवती का मनोबल बढाया। एसपी की मौजूदगी में एक दिन की थाना प्रभारी महिमा बजाज ने गांव झाल निवासी सुधा की समस्या को सुना जिसमें वृद्ध महिला ने पिछले दो महीनों से पुत्रों पर मारपीट करने का आरोप लगाया। एक दिन की थाना प्रभारी ने मामले में जांच कर कार्यवाही करने के निर्देश दिये।

यह भी पढ़े:पंजाब के नहरों में पानी छोडऩे की तारीख फिक्स, पटियाला माइनर को पहली प्राथमिकता

यह भी पढ़े:पुलवामा मुठभेड़ में आतंकवादी नौ दो ग्यारह, सुरक्षा बलों की कार्रवाई का विरोध

Related Articles

Back to top button