शिवपाल ने मुलायम सिंह को दिया 2 दिन का समय, कहा बेटा चुनों या भाई

0

लखनऊः समाजवादी पार्टी के कद्दावर नेता शिवपाल यादव के नए समाजवादी सेक्युलर मोर्चा के गठन से पूरी सियासत में हलचल मची हुई है। नेताओं से लेकर आम जन तक एक बात सोच रहे है कि मुलायम सिंह अपने भाई का साथ देंगे या बेटे को और मजबूत करेंगे? वहीं शिवपाल ने मुलायम सिंह को फैसला लेने के दो दिनों का समय दिया है।

मिली जानकारी के मुताबिक शिवपाल यादव इस बार आरपार के मूड़ में दिखाई दे रहे हैं। मुलायम सिंह अपना फैसला शुक्रवार और शनिवार सुना सकते हैं, शिवपाल इस बात की इशारों में कह चुके हैं। शायद इसी वजह से उन्होंने लखनऊ और सैफई छोड़ दिल्ली में जा कर रह रहे हैं। हालांकि वह शुक्रवार को मुजफ्फरनगर में एक कार्यक्रम में भाग ले रहे हैं।

मालूम हो कि अगर मुलायम अखिलेश के समर्थन में जाते हैं तो शिवपाल परिवार की डोर से मुक्त हो जाएंगे और खुलकर निर्णय लेने के लिए आज़ाद होंगे। वहीं अगर बेटे का साथ नहीं देंगे तो सपा कमजोर पड़ जाएगी और इस बात का पूरा फायदा विरोधियों को मिलेगा।

अचानक पार्टी दफ्तर पहुंचे मुलायम

शिवपाल द्वारा ‘समाजवादी सेक्युलर मोर्चा’ का गठन करने के एक दिन बाद पूर्व सपा सुप्रीमो मुलायम सिंह यादव गुरुवार को बिना किसी सुचना के अचानक लखनऊ स्थित पार्टी मुख्यालय पहुंच गए। अखिलेश यादव इस समय यूपी में नहीं हैं और उनकी गैरमौजूदगी में मुलायम सिंह यादव को देख सभी नेता और कार्यकर्त्ता हैरान रहे गए।

ये भी पढ़ें…..यूपी : बीजेपी नेता के गोदाम में छापा, मिला लाखों का अवैध सरकारी खाद्यान्न

बता दें कि इस दौरान सपा मुखिया अखिलेश यादव वहां मौजूद नहीं थे। अखिलेश पहले से निर्धारित अपने दो दिन के उत्तराखंड दौरे के लिए सुबह ही लखनऊ से रवाना हो गए थे। मुलायम सिंह ने कार्यकर्ताओं से राज्य के राजनीतिक हालातों को लेकर चर्चा भी की।

loading...
शेयर करें