शिवराज ने साधा निशाना बोले- कांग्रेस ने आतंक और अत्याचार का राज कायम किया

उन्होंने कांग्रेस छोड कर भाजपा का दामन थामने वालों का बचाव करते हुए कहा कि कांग्रेस तो स्व़ इंदिरा गांधी, नेताजी सुभाष चंद्र बोस, दिग्विजय के भाई लक्ष्मण सिंह सहित कई नेताओं ने छाेड़ी थी.

आगर: मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चाैहान ने कहा है कि कांग्रेस के 15 माह के शासनकाल में प्रदेश में विकास कार्य पूरी तरह ठप्प रहे और प्रदेश में कांग्रेस ने आतंक और अत्याचार का राज कायम किया.

चाैहान ने आगर विधानसभा के कानड में भाजपा की चुनावी सभा को संबोधित करते हुए कहा कि कांग्रेस सरकार ने प्रदेश में भाजपा सरकार द्वारा शुरू की गई योजनाओं को बंद कर दिया. विकास के कार्य बंद कर दिए गए. प्रदेश में आतंक और अत्याचार का राज कायम किया गया. इनके शासनकाल में लोगों के मकान अवैध बताकर ताेड़े गए.

उन्होंने कांग्रेस छोड कर भाजपा का दामन थामने वालों का बचाव करते हुए कहा कि कांग्रेस तो स्व़ इंदिरा गांधी, नेताजी सुभाष चंद्र बोस, दिग्विजय के भाई लक्ष्मण सिंह सहित कई नेताओं ने छाेड़ी थी. कांग्रेस को टिकाउ- बिकाउ कहना शोभा नहीं देता. उन्होंने कहा कि हम जनता के सेवक हैं, विकास का काम करते हैं. उन्होंने कहा कांग्रेस सरकार विकास के कार्यो के लिए पैसों का रोना रोती थी. पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ में विकास के कार्य करने की इच्छाशक्ति नहीं थी जबकि विकास के कार्याे के लिए वर्तमान सरकार के पास पैसों की कमी नहीं है.

उन्होंने कहा कि प्रदेश की जनता के सुख-दुख में हम और हमारी सरकार उनके साथ खड़ी रही. जब भी किसानों को कोई कठिनाइयां आई तो मैं उनके बीच गया. लेकिन कमलनाथ कभी भी किसानों के बीच नहीं गए. वे क्या जाने गरीब, किसानों का दर्द. उन्होंने तो विदेश, दिल्ली और छिंदवाड़ा ने ही देखा है.

चौहान ने कहा कि अभी कोरोना वायरस का संकट है. कोरोना का वैक्सीन तैयार हो रहा है. वैक्सीन तैयार होने के बाद इसकी उपलब्धता के आधार पर प्रदेश के सभी लोगों को इसकी वैक्सीन निःशुल्क उपलब्ध करवाएंगे. उन्होंने कोरोना से बचाव के लिए लोगों को मास्क लगाने की सलाह भी दी. उन्होंने कहा कि युवाओं के लिए सरकारी नौकरियों में भर्ती भी शुरू हो रही है. अभी पुलिस विभाग की भर्ती प्रक्रिया शुरू होने वाली है और जल्द ही अन्य विभागों में भर्तियां की जाएंगी. उन्होंने कहा कि हम केंद्र के सहयोग से प्रदेश में उद्योग भी लगाने की तैयारी कर रहे हैं और यहां भी स्थानीय लोगों को 75 प्रतिशत तक रोजगार उपलब्ध करवाएंगे.

यह भी पढ़े: अंतानानारिवो में चौथा अंतराष्ट्रीय राजनयिक दिवस बनाया गया यादगार

Related Articles

Back to top button