शिवराज सिंह चौहान 62वें जन्मदिन पर PM मोदी ने दी शुभकामनाएं, कही ये बात

मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान को उनके 62वें जन्मदिन पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने दी शुभकामनाएं

नई दिल्ली: मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान (Shivraj Singh Chauhan) को उनके 62वें जन्मदिन पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने दी शुभकामनाएं। शिवराज सिंह चौहान भारतीय जनता पार्टी (BJP) के वरिष्ठ नेता एवं वर्तमान में भारतीय जनता पार्टी के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष भी है और राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के समर्पित कार्यकर्ता हैं।

‘दीर्घायु जीवन की कामना’

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने अपने ट्वीटर हैंडल पर ट्वीट कर कि भाजपा के ऊर्जावान नेता और मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान जी को जन्मदिन की अशेष शुभकामनाएं। उन्होंने अपने नेतृत्व में राज्य को विकास की नई ऊंचाइयां दी हैं। मैं उनके सुखी, स्वस्थ और दीर्घायु जीवन की कामना करता हूं।

यह भी पढ़ेहंसल मेहता ने की ‘Scam 1992’ के सीक्वल की घोषणा, जानें किस पर आधारित बनेगी सीरीज

पेड़ लगाकर मनाएं जन्मदिन

CM शिवराज सिंह चौहान ने कहा कि मुख्यमंत्री या नेतृत्वकर्ता केवल राजनीतिक कार्यकर्ता नहीं होना चाहिए, उसे सामाजिक परिवर्तन का वाहक भी बनना चाहिए,सोशल रिफॉर्मर भी होना चाहिए।

मेरे मन में यह भाव आया कि हर अवसर ऐसा बनाया जाए जिसका उपयोग जनता के लिए हो और मैंने तय किया कि पेड़ लगाकर जन्मदिन मनाया जाए।

आपातकाल का विरोध

शिवराज सिंह चौहान का जन्म 5 मार्च 1959 को हुआ है। उनके पिता का नाम श्री प्रेमसिंह चौहान और माता श्रीमती सुंदरबाई चौहान हैं। उन्‍होंने भोपाल के बरकतउल्लाह विश्वविद्यालय से स्नातकोत्तर (दर्शनशास्त्र) तक स्वर्ण पदक के साथ शिक्षा प्राप्‍त की है। सन् 1945 में आदर्श उच्चतर माध्यमिक विद्यालय, भोपाल (मॉडल हायर सेकेंडरी स्कूल) के छात्रसंघ अध्यक्ष बनें। आपातकाल का विरोध किया और 1976-77 में भोपाल जेल में निरूद्ध रहे। अनेक जन समस्याओं के समाधान के लिए आंदोलन किए और कई बार जेल गए। सन् 1977  से राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के स्वयंसेवक हैं। वर्ष 1992 में उनका श्रीमती साधना सिंह के साथ विवाह हुआ। उनके दो पुत्र हैं।

राजनीतिक करियर

सन् 1977-78 में अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद के संगठन मंत्री बने। सन् 1975 से 1980 तक अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद के मध्य प्रदेश के संयुक्त मंत्री रहे। सन् 1980 से 1982 तक अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद के प्रदेश महासचिव, 1982-83 में परिषद की राष्ट्रीय कार्यकारणी के सदस्य, 1984-85 में भारतीय जनता युवा मोर्चा, मध्य प्रदेश के संयुक्त सचिव, 1985 से 1988 तक महासचिव तथा 1988 से 1991 तक युवा मोर्चा के प्रदेश अध्यक्ष रहे।

यह भी पढ़ेPM मोदी को मिलेगा CERAWeek अवॉर्ड, जानें क्यों दिया जाता है यह पुरस्कार?

 

Related Articles