शीशा खोलते ही बदमाशों ने मारी वाइस प्रिंसिपल को गोलियां

0

इलाहाबाद। सेंट जोंस इंटर कॉलेज के वाइस प्रिंसिपल मेहर नोस पर सोमवार सुबह शूटरों ने ताबड़तोड़ फायरिंग की जिसके कारण उनकी हालत काफी नाजुक हो गई है। मेहर की मां शीरीन का कहना है कि है भाई- भतीजे काफी समय से एक प्रॉपर्टी के विवाद को लेकर डॉन मां-बेटे के जान के दुश्मन बने हुए हैं। इसीलिए उन्होंने शूटरों को भेजकर उनके बेटे मेहर पर फायरिंग करवाई ताकि वो मर जाए और सारी प्रॉपर्टी वो लोग हड़प लें।

firing

also read : सास-बहू के झगड़े में सास की मौत, बहू अस्पाल में भर्ती

जानकारी के अनुसार, मेहर रोज की तरह सोमवार सुबह भी स्कूल के लिए घर से सवा सात बजे निकले थे। जैसे ही वो बैरहना के पास पहुंचे वैसे ही उनकी कार को दो युवकों ने ओवरटेक कर लिया। इस वजह से उनको अपनी कार रोकनी पड़ी। उतनी देर में युवक उनके पास आये और मेहर से कुछ बात करने के लिए उन्होंने शीशा खुलवाया।

जैसे ही मेहर ने शीशा कार का शीशा नीचे किया वैसे ही उन युवकों ने फायरिंग शुरू कर दी। मेहर को कुल सात गोलियां लगीं। इनमें से चार गोली मेहर के हाथ में धंस गईं, दो गोली पेट और एक गोली जांघ में धंस गई। इतने में मेहर बेहोश हो गए जिससे शूटरों को लगा कि वो मर गए इसलिए वो वहां से नैनी की ओर भाग गए।

firing

उधर, जब तक ये घटना घटी, उतनी देर वहां का ट्रैफिक रुका रहा है। मगर जैसे ही शूटर भाग गए वैसे ही पब्लिक तुरंत मेहर की तरफ दौड़ पड़ी। जनता ने पाया कि मेहर के खूब गोलियां लगी हैं। इसलिए लोगों ने मेहर को पास के ही चिरंजीवी हास्पिटल में भर्ती कराया। यहां डॉक्टरों ने मेहर हालत गंभीर बताकर उन्हें एसएसआरन हास्पिटल रेफर कर दिया।

also read : बुर्का पहनकर बैंक में घुसे आरोपी और लूट ले गए 5 करोड़ रूपए

इतनी देर में किसी ने मेहर की मां शीरीन को भी पूरे घटना के बारे में बताया। उधर, शीरीन भी पुलिस को लेकर एसएसआरन हास्पिटल पहुंच गईं। यहां उन्होंने पुलिस को बताया कि दो साल पहले से एक प्रॉपर्टी को लेकर भाई-भतीजों से झगड़ा चल रहा है और ये पहला मौका नहीं है जब उनके बेटे औ उनपर जानलेवा हमला न हुआ हो। इसलिए उन्होंने भाई-भतीजों को इस घटना का जिम्मेदार बताया है। पुलिस ने मामला दर्ज कर लिया है।

loading...
शेयर करें