श्रीनगर में ‘राइजिंग कश्मीर’ के संपादक शुजात बुखारी की हत्या, पुलिस ने जारी की हमलावरों की तस्वीर

श्रीनगर| जम्मू-कश्मीर के श्रीनगर में अंग्रेजी दैनिक ‘राइजिंग कश्मीर’ अखबार के संपादक शुजात बुखारी और उनके दोनों सुरक्षाकर्मियों की गुरुवार को उनके ऑफिस के बाहर आतंकियों ने गोलीमारकर हत्या कर दी। यह घटना उस वक़्त हुयी जब बुखारी श्रीनगर के लाल चौक इलाके में मौजूद अपने ऑफिस से करीब 7:15 मिनट पर इफ्तार पार्टी के लिए जा रहे थे। पुलिस का कहना है कि आतंकियों ने उन्हें बहुत ही करीब से गोली मारी है।

शुजात बुखारी

लश्कर-ए-तैयबा के आतंकवादियों पर शक

हालाँकि अभी तक पुलिस ने ये नहीं कहा है कि बुखारी की हत्या किसने की लेकिन सूत्रों के मुताबिक लश्कर-ए-तैयबा के आतंकवादियों ने इस वारदात को अंजाम दिया है। चश्मदीदों के मुताबिक, शुजात बुखारी पर हुए हमले में दो आतंकी शामिल थे, जिन्होंने आईएनएसएएस रायफल ले रखी थी और इसी से इस घटना को अंजाम दिया था। पुलिस ने संगदिग्ध हमलावरों की तस्वीर भी जारी की है। इसमें बाइक पर दो लोग दिख रहे हैं। शक है कि इन्हीं बाइक सवारों ने पत्रकार बुखारी की कार पर गोलियां चलाईं

राज्य पुलिस प्रमुख एस.पी. वैद्य ने कहा, “करीब 7:15 मिनट पर बुखारी प्रेस एन्क्लेव स्थित अपने कार्यालय से बाहर आए थे और जब वह अपनी कार में थे, आतंकवादियों ने उन पर हमला कर दिया।” उन्होंने कहा, “तीन मोटरसाइकिल सवार आतंकवादी आए और बुखारी व उनके सुरक्षाकर्मियों पर गोली चला दी। बुखारी और एक सुरक्षाकर्मी का निधन हो गया और एक अन्य गार्ड गंभीर रूप से घायल हो गया।”

मुख्यमंत्री महबूबा मुफ्ती और गृहमंत्री ने बुखारी की हत्या पर दुख जताया है। महबूबा मुफ्ती ने ट्वीट कर कहा कि शुजात बुखारी के अचानक हत्या से स्तब्ध और बहुत दुखी हूं। ईद की पूर्व संध्या पर आतंक ने अपना बदसूरत सिर उठाया है। मैं इस बिना दिमाग वाली हिंसा की कड़ी निदा करती हूं और उनके आत्मा की शांति के लिए दुआ करती हूं। मेरी गहरी संवेदना उनके परिवार के साथ है।”

केंद्रीय गृहमंत्री राजनाथ सिह ने भी घटना पर शोक प्रकट किया है।

उन्होंने ट्वीट कर कहा, “राइजिंग कश्मीर के संपादक शुजात बुखारी की हत्या एक डरपोक कार्य है। यह कश्मीरियों की आवाज दबाने का प्रयास है। वह एक साहसी और निडर पत्रकार थे। उनकी मौत की खबर सुनकर हैरान और दुखी हूं। मेरी संवेदना उनके परिजनों के साथ है।”

पूर्व मुख्यमंत्री उमर अब्दुल्ला ने भी घटना पर गहरा दुख प्रकट किया है।  उन्होंने कहा, “शुजात को जन्नत में जगह मिले और उनके चाहने वालों को संकट की इस घड़ी में ताकत मिले।”

 राहुल गांधी ने भी किया ट्वीट 

शुजात बुखारी की हत्या पर कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने भी ट्वीट किया है। राहुल ने लिखा है, ”राइजिंग कश्मीर के संपादक शुजात बुखारी की हत्या से बेहद दुखी हूं। वे बहुत दिलेर इंसान थे और जम्मू कश्मीर में शांति और न्याय के लिए काम कर रहे थे। परिवार के साथ मेरी संवेदनाएं हें।, उन्हें हमेशा याद किया जाएगा।”

वहीं पत्रकार संगठनों ने बुखारी की हत्या के लिए जिम्मेदार लोगों को जल्द गिरफ्तार करने की मांग की।  हत्या की इस घटना को कायराना हमला करार देते हुए एडिटर्स गिल्ड ऑफ इंडिया ने कहा कि बुखारी धैर्य और साहस की आवाज और बड़े दिल वाले संपादक थे जिन्होंने कश्मीर में युवा पत्रकारों के एक बड़े वर्ग का मार्गदर्शन किया।  एडिटर्स गिल्ड ऑफ इंडिया ने एक बयान में कहा, “गिल्ड जम्मू-कश्मीर की सरकार से दोषियों का जल्द नाम दर्ज करने और राज्य में मीडिया की सुरक्षा सुनिश्चित करने की मांग की।”

Related Articles