मनोज सिन्हा ने दी आपात चिकित्सा के लिए राजभवन के हेलीकॉप्टर इस्तेमाल को मंजूरी

 

मनोज सिन्हा
मनोज सिन्हा

श्रीनगर: जम्मू-कश्मीर के उपराज्यपाल मनोज सिन्हा ने वंचितों के लिए एक और कल्याणकारी कदम उठाते हुए प्रदेश के दूरस्थ क्षेत्र में रहने वाले लोगों को आपातकालीन चिकित्सा सुविधा मुहैया कराने के लिए राजभवन के हेलीकॉप्टर का मुफ्त में इस्तेमाल करने की इजाज़त दे दी है।

एक जानकारी एक आधिकारिक प्रवक्ता ने शुक्रवार शाम को दी। उन्होंने बताया कि गांव की ओर लौटे कार्यक्रम के सिलसिले में दूरस्थ क्षेत्रों का दौरा करने के दौरान उपराज्यपाल में ग्रामीण क्षेत्रों के लोगों की कठिनाइयों को जाना, विशेषकर सर्दियों के मौसम में आने वाले कठिनाइयों को जब ग्रामीण इलाके प्रमुख शहरों और जिला मुख्यालयों से कट जाते हैं। उन्होंने बताया कि सिन्हा ने इन क्षेत्रों में रहने वाले लोगों की कठिनाइयों को देखते हुए प्रदेशभर के दूरस्थ क्षेत्रों में रहने वाले लोगों को एयरलिफ्ट करने हेतु राजभवन के हेलीकॉप्टर बेल 407 का इस्तेमाल करने की मंजूरी दे दी।

सुविधा को प्रभावी ढंग से करने का दिया निर्देश

उन्होंने बताया कि सिन्हा ने इस सुविधा का उपयोग प्रभावी ढंग से करने का निर्देश दिया है। इसका उपयोग करने के लिए संबंधित उपायुक्त और जिला के मुख्य चिकित्सा अधिकारी स्थिति की तात्कालिकता, रोगी की आय और आवश्यकता के अनुसार एयरलिफ्ट का कारण बताते हुए एक प्रमाण पत्र प्रस्तुत करेंगे।

गरीबी रेखा के नीच वालों रोगियों को आपातकालीन एयरलिफ्ट की सुविधा: सिन्हा

उन्होंने बताया कि इस सेवा का उपयोग विशेष रूप गरीबी रेखा के नीच जीवन यापन करने वाले उन रोगियों के आपातकालीन एयरलिफ्ट करने के लिए किया जाएगा, जो हेलीकॉप्टर सेवा के लिए रियायती शुल्क का भुगतान भी नहीं कर सकते हैं।
‘लाइन ऑफ कंटेक्ट’ है। लेकिन इस वर्ष जुलाई से हालात खराब हो गए हैं। इस इलाके को अर्तसख के नाम से भी जाना जाता है। अमेरिका, रूस, जर्मनी और फ्रांस समेत कई अन्य देशों ने दोनों पक्षों से शांति की अपील की है।

ये भी पढें: फिल्म ‘कुछ कुछ होता है’ के 22 साल पूरे होने पर काजोल ने सोशल मीडिया पर शेयर किए वीडियोज़

 

Related Articles

Back to top button