ब्रेन हैमरेज के मरीज को ठीक कर सकती हैं नींद की गोलियां

नई दिल्ली। हमेशा से ही नींद की गोलियों का सेवन करना स्वास्थ्य के लिए हानिकारक माना जाता है। लेकिन एक अध्ययन के अनुसार, ब्रेन हैमरेज के मरीज को यदि कम मात्र में नींद की गोलियां दी जाएं, तो उसे इस बीमारी से तेजी से उबरने में मदद मिलती है। स्टेनफोर्ड यूनिवर्सिटी ऑफ मेडिसिन के शोधकर्ताओं ने यह अध्ययन किया।

प्रोफेसर गेरी स्टेनबर्ग और उनकी टीम ने चूहों पर यह अध्ययन किया। शोधकर्ताओं ने अनिंद्रा के इलाज प्रयोग की जाने वाली दवा की खुराक कम मात्र में चूहे को दी। उन्होंने पाया कि इस दवा के प्रयोग से चूहे को मस्तिष्काघात से तेजी से उबरने में काफी मदद मिली। हालांकि स्टेनबर्ग ने कहा कि प्रयोग से पहले इस अध्ययन के निष्कर्ष को स्वतंत्र रूप से अन्य प्रयोगशालाओं में भी दोहराये जाने की जरूरत है।

आघात के कुछ ही घंटे के भीतर दवा देना जरूरी 

शोधकर्ताओं ने देखा कि नींद की दवाएं मस्तिष्काघात के बाद खून के संचार में आए अवरोध को खत्म करती हैं, जिससे मस्तिष्क में फिर से खून का संचार होने लगता है। लेकिन यह दवाएं तभी असर करती हैं, जब उन्हें आघात के कुछ ही घंटे के भीतर मरीज को दे दिया जाए।

Related Articles

Leave a Reply

Back to top button