अब स्‍मार्ट फोन 10 सेकंड में बताएगा HIV

0

लंदन। वैज्ञानिकों को एक नई सफलता हाथ लगी। इस नई उपल्‍ब्‍धी में वैज्ञानिकों ने स्मार्टफोन आधारित एक नई जांच विकसित की है। जिसके द्वारा रोगी के एक बूंद खून के प्रयोग से मात्र 10 सेकंड में ही एचआईवी का पता लग सकता है। इस जांच के माध्यम से डॉक्‍टरों को फायदा होगा। उनको ऐसा तरीका मिल सकता है जिससे वे एचआईवी के शरुवाती चरण में ही उसकी पहचान कर लेंगे।

वहीं यह भी कहा जा रहा की इससे इस खतरनाक बीमारी की रोकथाम में बहुत हद तक सफलता मिलेगी। ब्रिटेन की सरे यूनिवर्सिटी के प्रोफेसर विंस एमरी ने कहा, ‘हमने मौजूदा स्मार्टफोन टेक्नोलॉजी के उपयोग से एचआईवी के लिए यह दस सेकंड की जांच विकसित की है। जिसका प्रयोग जीका और इबोला जैसे खतरनाक वायरसों में भी किया जा सकेगा।

यह भी पढ़े- अमेरिका के लोग ऐसे ले रहे भारत के घी का मजा

बता दें की इस मोबाइल टेस्ट में सरफेस एकोस्टिक वेव बायोचिप्स का प्रयोग किया गया है। बायोचिप्स स्मार्टफोन में पाए जाने वाले माइक्रोइलेक्ट्रानिक कंपोनेंट्स पर वेस होते हैं। जिस कारण डिस्पोजेबल बायोचिप्स बेहद फास्‍ट होते हैं और इन्हें लेबलिंग और धुलाई जैसी जटिल प्रक्रियाओं की जरूरत नहीं पड़ती है। जिससे एक कंट्रोल बॉक्स एसएडब्ल्यू संकेतों को पढ़कर नतीजों को इलेक्ट्रानिक रूप से दिखाता है।

 

loading...
शेयर करें