स्मृति ईरानी का बढ़ा सिर दर्द, वर्तिका सिंह का कोर्ट में बयान दर्ज

सुल्तानपुर: केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी (Union Minister Smriti Irani) ने अंतरराष्ट्रीय निशानेबाज वर्तिका सिंह (Shooter Vartika Singh) को कांग्रेस का प्यादा कहा था। इसी मामले को लेकर जिला एवं सत्र न्यायालय के एमपी-एमएलए कोर्ट में वर्तिका सिंह का बयान दर्ज किया गया। राष्ट्रपति पुरस्कार विजेता वर्तिका सिंह ने कहा कि उन्होंने प्रियंका गांधी के बच्चे को निशानेबाजी का प्रशिक्षण दिया है, लेकिन वे कांग्रेस का प्यादा नहीं हैं।

मंत्री ने खिलाड़ी को बताया था कांग्रेस का प्यादा

बीते दिनों अमेठी दौरे के दौरान मंत्री स्मृति ईरानी (Smriti Irani) ने वर्तिका सिंह (Vartika Singh) को कांग्रेस का प्यादा कहते हुए राहुल गांधी से जोड़ दिया था। जिसे लेकर वर्तिका सिंह ने सुल्तानपुर के एमपी-एमएलए कोर्ट में मानहानि का मुकदमा दायर किया था। मुकदमा स्वीकृत होने के बाद मंगलवार को वादी का बयान दर्ज किया गया है।

मैंने दर्ज कराया अपना बयान: Vartika Singh

आज न्यायालय में मेरा बयान मजिस्ट्रेट के सामने दर्ज किया गया। मैंने केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी ((Smriti Irani) पर मानहानि का मुकदमा लगाया था। स्मृति ईरानी ने मुझे कांग्रेस का प्यादा कहा था। जबकि कांग्रेस से मेरा दूर-दूर तक कोई भी संबंध नहीं है। इसे मेरी अंतरराष्ट्रीय छवि ख़राब हुई है।

‘मैंने दी प्रियंका के बेटे को ट्रेनिंग, पर मैं प्यादा नहीं’

निशानेबाज वर्तिका सिंह (Vartika Singh) ने कहा कि ये सही है कि मैंने देहरादून के ट्रेनिंग स्कूल में बहुत से बच्चों को निशानेबाजी की शिक्षा दी है। प्रियंका गांधी वाड्रा के बच्चे को निशानेबाजी की ट्रेनिंग दी है। राहुल गांधी ने अमेठी में मुझे सम्मानित किया है। लेकिन राजनीति से मेरा दूर-दूर तक कोई नाता नहीं है। वर्तिका सिंह के अधिवक्ता रोहित का कहना है कि मजिस्ट्रेट के सामने बयान दर्ज कर लिया गया है। कोर्ट में प्रमाण भी दिया गया है, और पूरा मामला बताया गया है। कोर्ट ने वर्तिका सिंह का बयान दर्ज करने के बाद अन्य गवाहों का बयान दर्ज करने के लिए 19 फरवरी की तिथि नियत की है।

यह भी पढ़ें: पत्रकार पर नहीं चल सका सरकार का अत्याचार, मनदीप मामले में कोर्ट ने की सुनवाई

Related Articles

Back to top button