Sneha Dubey : UN में पाकिस्तान की बोलती बंद करने वाली IFS अधिकारी

नई दिल्ली : भारत ने पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान के देश के खिलाफ तीखे हमले के जवाब में पाकिस्तान को आतंकवाद का संरक्षक और अल्पसंख्यकों का दमन करने वाला बताते हुए संयुक्त राष्ट्र में भारत की पहली सचिव Sneha Dubey ने कड़े शब्दों में  कहा की ये वो देश है जो खुद को फायर फाइटर के वेश छिपा कर आग लगाने का काम करता है।”

Sneha Dubey का वीडियो सामने आने के बाद देश में हो रही है उनकी तारीफ

स्नेहा के इस भाषण को सोशल मीडिया हैंडल पर पोस्ट किए जाने के कुछ ही समय बाद, भारतीयों ने उनके इस कड़े जवाब के लिए उनकी सराहना की, जिस उम्र में उन्हें ये जिम्मेदारी दी गई थी और जिस तरह से उन्होंने इसे संभाला था, उस पर कई लोगों को आश्चर्य भी है। 2012 बैच की IFS अधिकारी स्नेहा ने अपनी स्कूली शिक्षा गोवा से पूरी की। इसके बाद उन्होंने पुणे के फर्ग्यूसन कॉलेज में अपनी उच्च शिक्षा प्राप्त की और अंत में स्कूल ऑफ इंटरनेशनल स्टडीज, जवाहरलाल नेहरू विश्वविद्यालय, दिल्ली से MPhil किया।

वह 12 साल की उम्र से भारतीय विदेश सेवा में शामिल होना चाहती थीं और साल 2011 में अपने पहले प्रयास में ही उन्होंने सिविल सर्विस परीक्षा पास की। वह कहती हैं कि विदेशी सेवाओं में शामिल होने की उनकी प्रेरणा अंतरराष्ट्रीय मामलों के बारे में जानने, नई संस्कृतियों की खोज करने का रोमांच, देश का प्रतिनिधित्व करने, महत्वपूर्ण नीतिगत निर्णयों का हिस्सा बनने और लोगों की मदद करने का एक कॉम्बिनेशन था।

यह भी पढ़ें : अंतरराज्य स्तर पर मादक पदार्थ की तस्करी करने वाले 6 आरोपी गिरफ्तार, बड़ी चालाकी से…

 

 

Related Articles