बर्फबारी ने बढ़ाई परेशानियां, यमुनोत्री हाइवे हुआ बंद

0

देहरादून। ठंड ने धीरे-धीरे उत्तराखंड में अपने पैर पसार लिए हैं और अब वहां कडाके की ठंड से लोगों को बुरा हाल  है। ऊंची चोटियों के साथ ही बदरीनाथ, केदारनाथ, गंगोत्री व यमुनोत्री बर्फ की चादर ओढ़े बेहद खूबसूरत नज़र आ रही है। इस मौसम की पहली बर्फबारी से वहां के निवासियों के चेहरे पर खुशी साफ देखने को मिल रही है। लेकिन किसी के लिए खुशी बनने वाली ये बर्फबारी किसी के लिए दुख और परेशानियों का सबब बन गई है। भूस्खलन से यमुनोत्री राष्ट्रीय राजमार्ग बड़कोट के पास बंद होने से यमुनाघाटी के लोगों की परेशानियां और चिंता काफी बढ़ गई हैं।

लोगों के आवागमन के रास्ते पर पहाड़ों से पत्थर गिर रहे हैं जिसकी वजह से रास्ते बंद कर दिए गए हैं। ध्यान देने वाली बात ये है कि इससे पहले सितमंबर के महीने में भी पत्थरों के गिरने औऱ भूस्खलन के कारण इस मार्ग को लगभग 20 दिनों के लिए बंद करना पड़ा था। इसके अलावा पहाड़ के साथ ही मैदानी इलाकों में रात से रिमझिम बारिश होती रही। मौसम विभाग ने चेताया है कि अगरले 24 घंटों तक यहां बादल छाए रहेंगे, लेकिन हिमालय की चोटी पर बारिश और बर्फबारी होने की संभावना है।

सोमवार शाम से मौसम ने करवट ली है। केदारनाथ में रातभर बर्फबारी हुई है। इस दौरान करीब दो फीट बर्फ पड़ी। इस कारण केदारनाथ में चल रहा पुनर्निर्माण कार्य ठप्प हो गया यानि बीच में ही रोकना पड़ा। यहां कार्य कर रहे डेढ़ सौ से अधिक श्रमिक अपने कमरों में ठंड से बचने के जुगाड़ के काम आए। इसके अलावा तुंगनाथ, मदमहेश्वर, पंवालीकांठा के साथ ही चमोली में औली और गोरसो में भी काफी भारी बर्फबारी देखने को मिली। इन सारी परेशानियों के बीच बर्फबारी से औली में जनवरी में होने वाली स्कीइंग स्पर्धा की उम्मीदें जग गईं।

loading...
शेयर करें