पौंग बांध में अब तक 2736 प्रवासी पक्षियों की हुई मौत, इनमे पाया गया ये वायरस

हिमाचल प्रदेश के कांगडा स्थित पौंग बांध में एच5एन1 से अब तक 2736 प्रवासी पक्षियों की मौत हो चुकी है।

शिमला: हिमाचल प्रदेश के कांगडा स्थित पौंग बांध (Pong Dam) में एच5एन1 से अब तक 2736 प्रवासी पक्षियों की मौत हो चुकी है। वन विभाग (Forest department) के एक प्रवक्ता ने बुधवार को जानकारी देते हुए बताया है कि एनआईएचएएसडी भोपाल को भेजे गए नमूनों के परीक्षण परिणामों के आधार पर पौंग बांध (Pong Dam) वन्यप्राणी अभयारण्य में प्रवासी पक्षियों की मृत्यु का कारण एच5एन1 एवियन इन्फ्लुएंजा वायरस (Avian influenza virus) पाया गया है।

प्रवक्ता ने कहा कि एवियन इन्फ्लुएंजा व बर्ड फ्लू वायरस से होने वाली बीमारी है। यह पालतू मुर्गियों और जंगली पक्षियों को संक्रमित करती है। उन्होंने कहा कि भारत सरकार द्वारा जारी एवियन इन्फ्लुएंजा की तैयारी, नियंत्रण और रोकथाम के लिए पशुपालन की कार्य योजना बनाई गई है।

ये भी पढ़ें : म्यांमार का रोहिंग्या अजीजुल हक यूपी से गिरफ्तार, फर्जी दस्तावेजों के सहारे बना था भारतीय 

कार्य योजना के अनुसार, त्वरित प्रक्रिया टीमों का गठन कर प्रोटोकाॅल के अनुसार मृत पक्षियों के संग्रह और सुरक्षित निपटान के लिए तैनात किया गया है। संक्रमित क्षेत्रों को कीटाणु रहित किया जा रहा है और स्वच्छता पर विशेष ध्यान दिया जा रहा है। उन्होंने कहा कि पूरे आपरेशन की निगरानी डीएफओ वन्यप्राणी हमीरपुर द्वारा की जा रही है।

ये भी पढ़ें : किसान बिल (Farm bill) के समर्थन में आये सांसद, लगवाए भारत माता जिंदाबाद के नारे

पौंग बांध वन्यजीव क्षेत्र में 336 प्रवासी पक्षियों की हुई मृत्यु

उन्होंने कहा कि 5 जनवरी, 2021 को पौंग बांध वन्यजीव अभयारण्य क्षेत्र में 336 प्रवासी पक्षियों की मृत्यु की सूचना प्राप्त हुई थी। पोंग डैम वन्यजीव अभयारण्य क्षेत्र में 5 जनवरी, 2021 तक लगभग 2736 प्रवासी पक्षियों की मृत्यु दर्ज की गई है। उन्होंने कहा कि हिमाचल प्रदेश वन विभाग का वन्यजीव शाखा द्वारा इस प्रकोप को नियंत्रित करने के लिए सक्रिय रूप से काम कर रहे हैं और स्थिति पर नियंत्रण रखने और सख्त निगरानी बनाए रखने के लिए फील्ड स्टाफ को निर्देशित किया गया है।

Related Articles