अविश्‍वास प्रस्‍ताव पर पीएम मोदी के खिलाफ हैं इतनी पार्टियां, ये अपने भी हुए खिलाफ?

अविश्‍वास प्रस्‍तावनई दिल्‍ली। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की पहली अग्निपरीक्षा शुक्रवार को होनी है। दरअसल बुधवार को लोकसभा अध्‍यक्ष सुमित्रा महाजन ने मोदी सरकार के खिलाफ टीडीपी के अविश्‍वास प्रस्‍ताव को मंजूरी दी थी। ऐसे में अब देखना ये होगा कि कौन-कौन सी पार्टियां मोदी सरकार के खिलाफ जाने वाली हैं, हालांकि अकेले बीजेपी के पास अविश्‍वास प्रस्‍ताव से पार पाने के लिए जरूरी आंकड़ा मौजूद है।

टीडीपी के इस अविश्‍वास प्रस्‍ताव के खिलाफ जहां एक तरफ जहां पूरा विपक्ष एक नजर आ रहा है, वहीं आम आदमी पार्टी ने भी मोदी सरकार के खिलाफ अविश्‍वास प्रस्‍ताव में शामिल होने का मन बना लिया है। आप नेता संजय सिंह ने इसको लेकर कहा है कि केंद्र सरकार राज्‍यों के अधिकार खत्‍म करने में लगी है, इस वजह से उनकी पार्टी मोदी सरकार के खिलाफ अविश्‍वास प्रस्‍ताव में शामिल होगी।

वहीं दूसरी तरफ मोदी सरकार की सहयोगी पार्टी शिवसेना अभी अपना रूख साफ नहीं कर रही है। शिवसेना के वरिष्ठ नेता संजय राउत ने कहा कि लोकतंत्र में विपक्ष की आवाज को पहले सुना जाना चाहिए, भले ही उसमें सिर्फ एक ही शख्स हो। यहां तक कि जरूरत पड़ने पर हम (शिवसेना) भी बोलेंगे। वोटिंग के दौरान हम वही करेंगे, जो उद्धव ठाकरे कहेंगे।

आपको बता दें कि अविश्वास प्रस्ताव लाने वाली तेलगू देशम पार्टी (टीडीपी) के सांसदों ने मुंबई जाकर शिवसेना के वरिष्ठ नेता से मुलाकात की थी और अविश्वास प्रस्ताव पर समर्थन भी मांगा था। टीडीपी ने आंध्र प्रदेश को विशेष राज्य का दर्जा नहीं दिये जाने के बाद अविश्वास प्रस्ताव लाया है। कांग्रेस, एनसीपी समेत कई दलों ने अविश्वास प्रस्ताव का समर्थन करने का ऐलान किया है। वहीं यूपीए अध्यक्ष सोनिया गांधी का दावा है कि उनके पास बहुमत है।

Related Articles