तो क्या सच में इस वजह से आंध्र प्रदेश में आधी रात तक चलता रहा मतदान

0

विजयवाड़ा: गुरुवार को लोकसभा चुनाव के पहले चरण का मतदान हुआ। पहले चरण में औसत 60 प्रतिशत मतदान हुआ जिसमें बिहार में सबसे कम 53 प्रतिशत तो पश्चिम बंगाल और त्रिपुरा में सबसे ज्यादा 81 प्रतिशत वोट पड़े। जहां यह मतदान कम और ज्यादा रहा वहीं इस दौरान कुछ राज्यों में हिंसा की घटनाएं भी हुई जिसकी वजह से मतदान प्रभावित हुआ। नतीजा यह रहा कि इन सीटों पर आधी रात तक वोट पड़ते रहे।

ऐसा पहली बार है जब किसी सीट पर आधी रात तक मतदान हुआ हो। यह सब हुआ है आंध्र प्रदेश में जहां कईं मतदान केंद्रों पर रात 1 बजे तक मतदान होता रहा। जानकारी के अनुसार राज्य में 400 से ज्यादा मतदान केंद्रों पर वोट डाले गए और इनमें से गुंटूर, कृष्णा, नौल्लोर और कुरनूल जिले में कईं मतदान केंद्रों पर वोटिंग देर रात तक जारी रही।

जानकारी के अनुसार, ईवीएम में खराबी और कईं स्थानों पर हुई हिंसा की वजह से 400 मतदान केंद्रों पर वोटिंग प्रभावित हुई। नतीजा यह रहा कि इनमें 267 मतदान केंद्रों पर 10 बजे बाद तक वोटिंग होती रही। मलकानगिरी के गुंटूर में गुरुवार को मामला तब गर्मा गया जब मुख्यमंत्री के बेटे ने चुनाव अधिकारियों के खिलाफ धरना शुरू कर दिया। वहीं वायएसआर कांग्रेस ने नेताओं ने इसके खिलाफ धरना शुरू कर दिया। इसके अलावा विजयवाड़ा और कुरनूल में भी तनाव पसर गया था। इसके बाद चुनाव अधिकारियों ने मतदान के लिए आए लोगों को वोटिंग की अनुमति दी और यह देर रात तक चलती रही।

जानकारी के अनुसार, रात तक मतदान की वजह से राज्य में इन सीटों पर 80 प्रतिशत तक वोटिंग होने की सूचना है।

loading...
शेयर करें