तो इसलिए उत्तर प्रदेश, उत्तराखंड और दिल्ली में किसानों ने नहीं किया चक्का जाम…

नई दिल्ली: कृषि बिल को लेकर दिल्ली की सीमाओं पर किसान दो महीने के ज्यादा समय से आंदोलन पर बैठे हैं। किसानों ने बिल को वापस कराने के लिए गणतंत्र दिवस के दिन ट्रैक्टर मार्च किया था। इसी दौरान हिंसा भी हो गई थी। जिसमें हिंसा का जिम्मेदार किसानों को ठहराया गया था। वहीं किसानों ने एक बार फिर 6 फरवरी को चक्का जाम करने का ऐलान किया। लेकिन हिंसा से बचने के लिए ये चक्का जाम यूपी, उत्तराखंड और दिल्ली को छोड़कर सभी राज्यों में हुआ। तो आइये जानते हैं कि इन राज्यों में क्यों चक्का जाम नहीं किया गया।

UP, UK और Delhi में क्यों नहीं हुआ चक्का जाम?

दिल्ली की सीमा पर आंदोलन कर रहे किसानों ने 6 फरवरी को उत्तर प्रदेश, उत्तराखंड और दिल्ली छोड़ देश के सभी राज्यों में चक्का जाम करने का ऐलान किया था। इन तीनों राज्यों में इसलिए चक्का जाम नहीं किया गाया था क्योंकि किसानों को पहले से ही जानकारी मिल गई थी कि गणतंत्र दिवस की तरह ही हिंसा होने की आशंका थी। जिसके कारण इन तीनों राज्यों को चक्का जाम से अलग रखा गया। हालांकि किसान संगठनों ने दिल्ली में पहले से ही चक्का जाम करने से मना कर दिया था।

किसान नेता राकेश टिकैत
किसान नेता राकेश टिकैत

हिंसा होने की थी आशंका

किसान नेता राकेश टिकैत की मानें तो उनके पुास पुख्ता सबूत थे कि कुछ लोग चक्का जाम के दौरान हिंसा फैलाने की कोशिश करेंगे। राकेश टिकैत का कहना है कि हमने जनहित को देखते हुए उत्तराखंड, उत्तर प्रदेश और दिल्ली को 6 फरवरी को चक्का जाम से अलग रखा गया।

यह भी पढ़ें: Kisan Andolan: किसान ने लगाई फांसी, मौके पर Suicide Note बरामद

Related Articles

Back to top button