तो क्या कांग्रेस नेता नवजोत सिंह सिद्धू सच में इस वजह से छोड़ देंगे राजनीति

नई दिल्ली: लोकसभा 2019 के चुनाव में यदि बात विवादित बयानों की किया जाय तो लिस्ट काफी लाब्मी चौड़ी मिल जाएगी | ठीक उसी प्रकार यदि बडबोलेपन की भी करी जाये तो उसकी भी लिस्ट छोटी नही है| एक समय था जब कांग्रेस की घोटाले की दुहाई देने वाले केजरीवाल ने अपने बच्चो की कसम खाई थी और कहा था की कभी गठबंधन नही करूँगा , लेकिन उसी गठबंधन को लेके हाथ पैर जोड़ने के बाद भी कांग्रेस ने भाव नही दिया |

ठीक इसी प्रकार वर्तमान कांग्रेस नेता और पूर्व भाजपा नेता नवजोत सिंह सिद्धू का भी एक बयान आया है की यदि राहुल गाँधी चुनाव हारते है तो वो राजनीती छोड़ देंगे | वैसे तो कौन हारेगा और कौन जीतेगा इस बात की पुष्टि के लिए हमे कम से कम 23 मई तक का इन्तेजार तो करना ही होगा|

बयानो से अक्सर राजनीतिक हलचल मचाने वाले कांग्रेस नेता और पंजाब सरकार में मंत्री नवजोत सिंह सिद्धू का एक बार फिर से बड़ा बयान आया है। रविवार को पत्रकारों से बात करते हुए पूर्व क्रिकेटर नवजोत सिंह सिद्धू ने कहा है कि यदि राहुल गांधी लोकसभा चुनाव हार जाते हैं तो वे राजनीति छोड़ देंगे।

उन्होंने जोर दिया कि लोगों को यूपीए प्रमुख सोनिया गांधी से राष्ट्रवाद सीखना चाहिए जो रायबरेली से सांसद हैं। सिद्धू ने बीजेपी छोड़ने के बाद कांग्रेस के टिकट पर विधानसभा चुनाव लड़ा था जिसके बाद उन्हें पंजाब सरकार में मंत्री बनाया गया था।

उन्होंने बीजेपी नेताओं के उन आरोपों का खंडन किया जिसमें नेताओं ने कहा था कि, कांग्रेस के 70 वर्ष के कार्यकाल में कोई विकास नहीं हुआ। सिद्धू ने बीजेपी पर तंज कसते हुए कहा कि, जो भी उनके लिए ईमानदार हैं उसे राष्ट्रवादी कहा जाता है और जो ऐसा नहीं करता वह एंटी नेशनलिस्ट कहा जाता है। सिद्धू ने आरोप लगाते हुए कहा कि, राफेल डील बीजेपी के चुनाव हरने का कारण बन सकती है।

Related Articles