मुख्यमंत्री की फटकार के बाद रद्द की गई सामाजिक विज्ञान की परीक्षा

पटना: बिहार बोर्ड की मैट्रिक परीक्षा में हुए पेपर लीक मामले में शुक्रवार को सामाजिक विज्ञान (Social science) विषय की प्रथम पाली की परीक्षा को रद्द कर दिया है। मुख्यमंत्री नीतीश कुमार पेपर लीक मामले में बिहार बोर्ड को फटकार लगाई थी। इसके बाद बोर्ड ने फैसला लेते हुए पहली पाली की परीक्षा को रद्द कर दिया है। अब सामाजिक विज्ञान (Social science) की परीक्षा दोबारा आठ मार्च को आयोजित की जाएगी। शुक्रवार को परीक्षा के 3 घंटे पहले ही प्रश्न पत्र सोशल मीडिया पर वायरल हो गया था। प्रश्न पत्र के वायरल होते ही विभाग में हड़कंप मच गया था।

दोबारा ली जाएगी परीक्षा

बिहार बोर्ड अध्यक्ष आनंद किशोर ने पेपर लीक मामले की जानकारी दी है। उन्होंने बताया कि सामाजिक विज्ञान के प्रथम पाली में आठ लाख 46 हजार 504 परीक्षार्थी शामिल हुए थे। पेपर लीक होने के बाद इस परीक्षा को रद्द कर दिया गया है, अब इनकी परीक्षा आठ मार्च को दोबारा ली जाएगी। सीएम नीतीश की फटकार के बाद बोर्ड ने पहली पाली की परीक्षा को रद्द कर दिया।

ये भी पढ़ें : बीजेपी की युवा नेता को पुलिस ने किया गिरफ्तार, कार में बरामद हुई ये सामग्री

व्हाट्सऐप से वायरल हुआ पेपर

पेपर लीक मामले बिहार बोर्ड अध्यक्ष आनंद किशोर ने बताया है कि प्रश्न पत्र क्रमांक 111-0470581 परीक्षा के तीन घंटे पहले ही व्हाट्सऐप से वायरल हुआ था। मामला सामने आने पर बीएसईबी ने इसकी जांच कराई। जांच में पता चला कि जमुई जिले में सामाजिक विज्ञान के प्रश्न पत्र को भेजा गया था। यहां के डीएम और एसपी ने इसकी पड़ताल की। इसके बाद पता चला कि स्टेट बैंक ऑफ इंडिया झाझा ब्रांच से प्रश्न पत्र निकाल कर वायरल किया था। एसबीआई झाझा के संविदा कर्मी विकास कुमार,शशिकांत चौधरी,अजीत कुमार और अमित कुमार सिंह पर एफआईआर का निर्देश दिया गया है।

ये भी पढ़ें : Toolkit मामलें में दिशा रवि को तीन दिन के लिए न्यायिक हिरासत में भेजा गया

Related Articles

Back to top button