सोनू सूद विदेशों में फंसे भारतीय छात्रों की करेंगे मदद, एक्टर की जमकर हुई तारीफ

मुंबई: लॉकडाउन में बॉलिवुड में सोनू सूद एक मसीहा की तरह उभरकर सामने आए। जब लॉकडाउन में मजदूर पैदल अपने घरों की तरफ निकल गए तो सोनू ने हजारों मजदूरों को अपने खर्चे पर बसों और ट्रेन के जरिए उनके घर पहुंचाया। सोनू के इस काम की हर तरफ तारीफ की गई। हालांकि सोनू अभी थके नहीं हैं और लगातार लोगों की मदद कर रहे हैं। अब सोनू विदेश में पढ़ रहे भारतीय छात्रों को स्वदेश लाने जा रहे हैं।

जी हां, यह सच है और सोनू सूद ने खुद यह बात शेयर की है। मजदूरों को घर भेजने के बाद अब सोनू सूद विदेशों में फंसे भारतीय छात्रों की मदद में जुट गए हैं। सबसे पहले सोनू एक चार्टर फ्लाइट के जरिए किर्गिस्तान की राजधानी बिश्केक से भारतीय छात्रों को भारत लाएंगे। सोनू ने ट्वीट कर बताया, ‘किर्गिस्तान में रह रहे सभी छात्रों को सूचित किया जाता है कि अब आपके घर वापस आने का समय आ गया है। हम बिश्केक से वाराणसी की पहली चार्टर फ्लाइट 22 जुलाई को चलाएंगे। आपको ईमेल आईडी और मोबाइल फोन पर कुछ देर में इसकी जानकारी मिल जाएगी। अन्य राज्यों के लिए भी इस हफ्ते चार्टर फ्लाइट चलाई जाएंगी।’ सोनू की इस मदद की घोषणा के बाद स्टूटेंड्स के पैरंट्स काफी इमोशनल हो गए हैं और सोनू सूद को धन्यवाद देते हुए दुआएं मांग रहे हैं।
बता दें कि इससे पहले सोनू सूद एक दिन पहले ही चर्चा में आ गए थे जब उन्होंने कहा था कि वह पटना में बेघर मां-बच्चों के लिए घर का इंतज़ाम करेंगे| इसके अलावा सोनू सूद ने लॉकडाउन के दौरान घर जाने में घायल हुए या मारे गए मजदूरों के 800 परिवारों का खाने, रहने और पढ़ाई का खर्च भी उठाएंगे। सोनू सूद की मदद से लोग इतने अभिभूत हैं कि हाल में एक उड़ीसा के मजदूर ने अपनी दुकान का नाम सोनू सूद के ऊपर रखा है। बहुत से लोगों ने सोनू सूद को भारत रत्न दिए जाने की मांग भी की है।

Related Articles