कोलकाता हाईकोर्ट में सौऱभ गांगुली पर लगाया 10 हज़ार का जुर्माना

नई दिल्ली: BCCI अध्यक्ष और भारतीय पूर्व कप्तान सौऱभ गांगुली पर कोलकाता हाईकोर्ट ने 10 हज़ार रुपया का जुर्माना लगाया हैं। सौरव गांगुली के साथ ही बंगाल सरकार और उसके आवास निगम हिडको (HIDCO) पर भी 50 हजार रुपए का जुर्माना लगाया गया है। मामला गलत तरह से जमीन आवंटन का है, हाईकोर्ट के कार्यवाहक मुख्य न्यायाधीश राजेश बिंदल और न्यायाधीश अरिजित बनर्जी की बेंच ने सोमवार को जनहित याचिका पर सुनवाई की और कहा कि जमीन आवंटन के मामलों में निश्चित नीति होनी चाहिए, ताकि सरकार ऐसे मामलों में दखल न दे सके।

क्रिकेट अकादमी वाली ज़मीन पर विवाद

सौऱभ गांगुली को क्रिकेट अकादमी खोलने के लिए बंगाल सरकार के आवास निगम हुडको ने सॉल्टलेक के CA ब्लॉक में जमीन दी थी। हालांकि इस विवाद के होने बाद सौऱभ गांगुली ने ज़मीन लौटा दी थी, पर अब यह आरोप लगाया जा रहा की सौऱभ गांगुली को बिना टेंडर पास किये ही ज़मीन दे दी गयी थी। सॉल्टलेक ह्यूमैनिटी’ नाम की एक स्वयंसेवी संस्था ने राज्य सरकार के खिलाफ मामला दर्ज कराया था। उस मामले की सुनवाई करते हुए कोर्ट ने यह जर्माना लगाया है।

BCCI अध्यक्ष और गांगुली एजुकेशन एंड वेलफेयर सोसायटी को स्कूल के लिए आवंटित 2.5 एकड़ जमीन पर सवाल खड़ा किया गया था। पीठ ने कहा कि देश हमेशा खिलाड़ियों के लिए खड़ा होता है, खासकर जो इंटरनेशनल स्तर पर देश का प्रतिनिधित्व करते हैं। यह सच है कि सौरव गांगुली ने क्रिकेट में देश का नाम रोशन किया है, लेकिन जब बात कानून और नियमों की आती है तो संविधान में सब समान है, कोई भी उससे ऊपर होने का दावा नहीं कर सकता। साल 2016 में इस जमीन के आवंटन को चुनौती देते हुए जनहित याचिका दायर की गई थी।

यह भी पढ़ें: उत्तर प्रदेश के IPS अधिकारी पर हिंदू धर्म के खिलाफ दुष्प्रचार करने का आरोप

(Puridunia हिन्दी, अंग्रेज़ी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुकट्विटरइंस्टाग्राम और यूट्यूब  पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं)…

Related Articles