IPL
IPL

टीम से बाहर होने और कप्तानी से हटाने पर Sourav Ganguly ने दिया बड़ा बयान

जिंदगी में उतार-चढ़ाव आते रहेंगे और आपको ऐसी स्थिति से निपटना होगा यह आप की मानसिकता के बारे में है वह चाहे खेल हो या व्यवसाय या कुछ और जिंदगी का कोई भरोसा नहीं है।

नई दिल्ली: भारतीय क्रिकेट टीम के महान बल्लेबाज़ और पूर्व कप्तान सौरव गांगुली ने अपने करियर को लेकर बड़ा बयान दिया है। सौरभ गांगुली ने कहा मेरे करियर के लिए सबसे बड़ा झटका था जब 2005 में मुझे कप्तानी से हटा कर टीम से बाहर कर दिया गया। बतादें कि उन्होंने अपने करियर में 424 अंतरराष्ट्रीय मैच खेले है। और उनकी कप्तानी में भारतीय टीम ने 2003 विश्व कप फाइनल में प्रवेश भी किया था।

आपको बतादें कि सौरव गांगुली की अगुवाई में टीम इंडिया ने 196 वनडे और टेस्ट मैच खेले हैं जिसमें 97 में जीत और 79 में हार मिली है। सौरव गांगुली की कप्तानी में भारतीय टीम जीत का प्रतिशत 49.48 रहा है। सौरभ ने एक इंटरव्यू में कहा, आपकी जिंदगी में उतार-चढ़ाव आते रहेंगे और आपको ऐसी स्थिति से निपटना होगा यह आप की मानसिकता के बारे में है वह चाहे खेल हो या व्यवसाय या कुछ और जिंदगी का कोई भरोसा नहीं है।

Sourav Ganguly, India - समाचार नामा

दुनिया के सामने साबित करने की कोशिश करते हैं

आपको हर स्थिति का सामना करने के लिए तैयार रहना होगा सौरव ने आगे कहा जब आप अपनी जिंदगी का पहला टेस्ट खेलते हैं तो आप खुद को दुनिया के सामने साबित करने की कोशिश करते हैं। और आप पर दबाव होता है लेकिन लगातार अच्छा कर खुद को साबित करने के बाद जब आपका खराब दौर आता है। तो लोग आप पर सवाल उठाने के लिए खड़े रहते हैं यह किसी खिलाड़ी की ज़िन्दगी में बहुत लंबे वक्त तक चलता है।

साल 1992 में अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में डेब्यू करने वाले सौरव गांगुली ने अपने करियर में 113 टेस्ट की 188 पारियों में 17 बार नाबाद रहते हुए 7212 रन बनाए हैं। टेस्ट करियर में उनके बल्ले से 1 दोहरा शतक 16 शतक और 5 अर्धशतक शामिल है। वहीं अगर बात करें वनडे मैचों की तो उन्होंने 22 सेंचुरी और 72 हाफ सेंचुरी की मदद से 11363 रन बनाए।  गांगुली के वनडे करियर में उनका सर्वोच्च स्कोर 183 रन रहा है साथ ही उनकी इन सभी उपलब्धियों में 132 विकेट भी शामिल है।

यह भी पढ़े: Acharya Swami Vivekananda: कुछ राशियों के आर्थिक हालात में होंगे सुधार, बस रखना होगा इन बातों का ध्यान

Related Articles

Back to top button