जेल बदलने पर सपा सांसद आजम खान जताई आपत्ति,बोले जेल में मेरे साथ हो रहा आतंकवादियों जैसा व्यवहार…

लखनऊ। समाजवादी पार्टी (सपा) के सांसद व दिग्गज नेता आजम खान की शनिवार को रामपुर कोर्ट में पेशी है। पेशी के लिए जेल से बाहर आते ही आजम खान ने ब्यान दिया है कि जेल में उनके साथ आतंकवादियों वाला व्यवहार किया जा रही है। उन्होंने कहा योगी सरकार में मेरे साथ अमानवीय व्यवहार हो रहा है। जिसके बाद आजम को भारी सुरक्षा व्यवस्था के बीच सीतापुर से रामपुर कोर्ट के लिए ले जाया जा रहा है। रामपुर की एडीजे-6 कोर्ट में आजम खान की पत्नी तंजीम फातिमा और अब्दुल्ला आजम की भी पेशी है।

सपा सांसद आजम खान के साथ उनकी पत्नी तंजीम फातिमा और बेटे अब्दुल्ला आजम को रामपुर जेल में न्यायिक हिरासत में भेजा गया था, लेकिन तीनों को रामपुर से सीतापुर जेल भेज दिया गया। कोर्ट से बगैर अनुमति लिए आजम परिवार को एक से दूसरे जेल में शिफ्ट किए जाने को आधार बनाकर अब आजम के वकील ने अवमानना की याचिका दायर की थी।

इस याचिका पर सुनवाई करते हुए शुक्रवार को एडीजे 6 कोर्ट ने सपा सांसद आजम, उनकी पत्नी तंजीम फातमा और बेटे अब्दुल्ला आजम को रातोरात रामपुर जेल से सीतापुर जेल भेज दिया गया था। जिसके बाद आजम परिवार ने नराजगी जाहिर की है। हालांकि इसी मामले में शनिवार को ही सुनवाई है।

जेल बदलने पर आपत्ति

आजम खान के वकील खलील उल्लाह खान ने कोर्ट की बगैर अनुमति के जेल बदलने को अवमानना बताया था। उन्होंने आशंका जताई थी कि जेल में यह फेरबदल राजनीतिक साजिश के तहत की गई है। गौरतलब है कि आजम खान के खिलाफ कुल 83 मुकदमे दर्ज हैं, जिनमें से कुछ में आजम की पत्नी और बेटे भी आरोपी हैं। उन्हें एमपी एमलए कोर्ट से 8 मामलों में जमानत को मंजूरी दे दी थी।

सपा सांसद आजम खान ने बुधवार को अपनी पत्नी तंजीम फातिमा और बेटे अब्दुल्ला के साथ अपर जिला न्यायाधीश की कोर्ट में सरेंडर किया था। कोर्ट ने अब्दुल्ला आजम को दो जन्म प्रमाण पत्र बनवाने के मामले में 2  मार्च तक के लिए न्यायिक हिरासत में भेज दिया था।

जानिए क्या है पूरा मामला?

आजम खान, उनकी पत्नी और बेटे को जिस मामले में जेल भेजा गया है, वह अब्दुल्ला आजम के दो जन्म प्रमाण पत्र बनाने से जुड़ा है। इस मामले में कोर्ट ने गैर जमानती वारंट जारी किया था। हालांकि यह मामला सामने आने के बाद अब्दुल्ला की विधानसभा सदस्यता भी रद्द हो चुकी है।

Related Articles