सपा की गुटबाजी सतह पर आयी

sapa-700गोरखपुर। जिला पंचायत अध्यक्ष पद के चुनाव में अजीबो-गरीब घटनाएं देखने को मिल रही हैं। पूरे जनपद में सपा की इकलौती विधायक राजमती निषाद के बेटे और लोहिया वाहिनी से जुड़े अमरेंद्र निषाद आज ‘समाजवाद’ के विरोधी खेमे के झंडे तले नजर आये।

परचा दाखिला के दौरान अमरेंद्र अजय बहादुर के साथ मौजूद रहे जो कि भाजपा के बागी विधायक विजय बहादुर यादव के भाई हैं और जिला पंचायत अध्यक्ष पद के प्रत्याशी हैं। सपा की प्रत्याशी गीतांजलि यादव हैं। इस घटना को सपा में गुटबाजी के तौर पर देखा जा रहा है।
लोहिया वाहिनी के नेता अमरेंद्र निषाद का कहना है कि विजय बहादुर से पुराने सम्बन्धों के कारण वे पर्चा दाखिला में शामिल हुये। आज जिला पंचायत अध्यक्ष के लिये कुल तीन पर्चे दाखिल हुये। अजय बहादुर बसपा समर्थित प्रत्याशी हैं, जबकि गीतांजली सपा की घोषित प्रत्याशी हैं। भाजपा ने पत्ते नहीं खोले हैं। एक निर्दल प्रत्याशी ने भी पर्चा भर दिया है।

पूर्व मंत्री के बेटे हैं अमरेंद्र
समाजवादी झंडे की छांव छोड़कर बसपा समर्थित प्रत्याशी के साथ खड़े होने वाले अमरेंद्र, पूर्व मंत्री स्व.जमुना निषाद के बेटे हैं। उनकी मां राजमती निषाद पिपराईच से सपा विधायक हैं। लोकसभा चुनाव में वह भाजपा सांसद योगी आदित्यनाथ की प्रतिद्वंद्वी थीं।

Related Articles

Leave a Reply

Back to top button