कांवड़ यात्रा में दिखेगी राम मंदिर की झांकी, वीएचपी और बजरंग दल ने बनाई विशेष योजना

0

नई दिल्ली: शनिवार (28 जुलाई) से सावन का महीना शुरु हो रहा है। ऐसे में शिवभक्तों में उत्साह दिखने लगा है। पिछली बार योगी सरकार ने कांवड़ियों को लेकर विशेष तैयारी की थी। वहीं इस राज्य सरकार के अलावा बजरंग दल और विश्व हिंदू परिषद ने भी कांवड़ यात्रा को लेकर विशेष तैयारी कर रखी है। दोनों संगठन यात्रा के दौरान राम मंदिर के प्रस्तावित मॉडल की झलक दिखाएंगे।

राम मंदिर के प्रस्तावित मॉडल की दिखेगी झलक

दरअसल, सावन के महीने में शुरु होने वाली इस यात्रा के दौरान शिव भक्त भगवान भोलेनाथ का जलाभिषेक करने के लिए बड़ी संख्या में कांवड़ लेकर निकलते हैं। इस दौरान तरह-तरह की झांकियां देखने को मिलती है। मेरठ के बजरंग दल के नेता मिलन सोम ने बताया कि इस बार यात्रा के दौरान संगठन के लोग पश्चिमी यूपी में राम मंदिर के प्रस्तावित मॉडल की झलक दिखाएंगे। इस दौरान सांड़ों की हत्या किये जाने के मामले और स्मगलिंग जैसे मुद्दे पर भी सरकार का ध्यान खींचने का प्रयास करेंगे।

लव जिहाद का मुद्दा भी उठाया जाएगा

सोम ने कहा कि कांवड़ यात्रा के दौरान लव जिहाद का मुद्दा भी उठाया जाएगा, जिसमें हिंदू लड़कियों को प्रेम-प्रसंग में धोखे से फंसाया जाता है। इसके लिए पंपलेट छपवाए जा रहे हैं, जिससे कांवड़ यात्रा के दौरान इन्हें वितरित किया जा सके। दल के नेता ने बताया कि एक विशेष प्रकार की कांवड़ तैयार करने के लिए हरिद्वार में दिया गया है जिसे बजरंग दल और विश्व हिंदू परिषद के 300 कार्यकर्ताओं द्वारा मेरठ लाया जाएगा। इस कांवड़ में राम मंदिर की झलक देखने को मिलेगी।

कांवड़ यात्रा के मद्देनजर पश्चिमी यूपी में पुलिस सतर्क

कांवड़ यात्रा के दौरान धर्म जागरण मंच के करीब 30 हजार कार्यकर्ता दिखाई देंगे। अधिकांश लोग अपने-अपने कांवड़ के साथ यात्रा शुरू करेंगे, जबकि कुछ विशेष कांवड़ के साथ रहेंगे। उधर, प्रशासन भी इसे लेकर सतर्क है और यात्रा की सुरक्षा व्यवस्थाओं को चाक चौबंद करने में जुट गया है। कोई अप्रिय दुर्घटना न हो इसके लिए यूपी सरकार ने पहले ही 100 पुलिस वाहन कांवड़ यात्रा के दौरान सुरक्षा के लिए लगाने का निर्देश दिया था, जबकि इस दौरान ड्रोन कैमरे भी निगरानी करेंगे।

loading...
शेयर करें