श्रीसंत अब दूसरे देश के लिए भी नहीं खेल पाएंगे क्रिकेट

0

नई दिल्ली। इंडियन प्रीमियर लीग (IPL) में सट्टेबाजी में लिप्त पाए जाने के बाद भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड (BCCI) ने एस। श्रीसंत पर आजीवन प्रतिबंध लगा दिया था। इसके बाद केरल हाईकोर्ट ने भी बोर्ड की याचिका के बाद उनपर यह सजा बरकरार रखी है।

Related image

कोर्ट ने यह फैसला इसलिए सुनाया है क्योंकि मुख्य न्यायाधीश नवनीत प्रसाद सिंह वाली खंडपीठ का कहना है कि कोर्ट बोर्ड द्वारा लगाए गए आजीवन प्रतिबंध पर न्यायिक समीक्षा नहीं कर सकती और इसलिए अपील को स्वीकार करते हुए श्रीसंत पर लगा प्रतिबंध बरकरार रखती है।

यह भी पढ़ें : आजीवन प्रतिबंध पर बोले श्रीसंत, अगर नहीं हटाया बैन तो दूसरे देश के लिए खेलूंगा क्रिकेट

इससे पहले कोर्ट ने अगस्त में श्रीसंत पर लगे आजीवन प्रतिबंध को हटा दिया था। मगर अब वापस से कोर्ट ने उनपर प्रतिबंध लगा दिया है। यही कारण है कि श्रीसंत ने कहा था कि अगर BCCI ने उनपर से प्रतिबंध नहीं हटाया तो वो दूसरे देश के लिए खेलेंगे क्योंकि ICC ने उनपर बैन नहीं लगाया है।

Related image

 

मगर श्रीसंत भारत में तो क्या किसी और देश में भी क्रिकेट नहीं खेल सकते हैं क्योंकि बोर्ड ने उनपर किसी भी मैदान में क्रिकेट का प्रशिक्षण न ले पाने का प्रतिबंध लगाया है।

यह भी पढ़ें : दिवाली पर श्रीसंत को लगा तगड़ा झटका, BCCI की याचिका पर हाईकोर्ट ने बरकार रखी सजा

यही नहीं, श्रीसंत का दूसरे टीम से खेलने वाले बयान के बाद बोर्ड ने खुद इसका जवाब देते हुए कहा कि पैरेंट बॉडी द्वारा प्रतिबंध लगाए जाने के बाद खिलाड़ी किसी और देश के लिए नहीं खेल सकता क्योंकि ICC के नियम ही ऐसे हैं और इन्हें खिलाड़ियों को मानना ही पड़ेगा। ऐसे में उनका दूसरे देश से क्रिकेट खेल पाने का सपना भी टूट गया।

loading...
शेयर करें