सांप्रदायिक हिंसा के बाद श्रीलंका के राष्ट्रपति ने आपातकाल हटाया

0

कोलंबो| श्रीलंका के राष्ट्रपति मैत्रिपाला सिरिसेना ने देशभर में लागू आपातकाल हटाने के लिए एक राजपत्र अधिसूचना पर हस्ताक्षर कर दिए हैं। श्रीलंका के कैंडी शहर में सांप्रदायिक हिंसा के बाद छह मार्च को आपातकाल का ऐलान किया गया था।

श्रीलंका के राष्ट्रपति

सिरिसेना के सचिव ऑस्टिन फर्नेन्डो ने सिन्हुआ को बताया कि राष्ट्रपति ने भारत और जापान के दौरे से लौटने के बाद इस अधिसूचना पर हस्ताक्षर किए।

सिरिसेना ने ट्वीट कर कहा, “मैंने सार्वजनिक सुरक्षा की स्थिति का आकलन कर कल (शनिवार) आधीरात से आपातकाल हटाने के निर्देश दे दिए।”

देश में सरकार और तमिल टाइगर विद्रोहियों के बीच 30 वर्षो के संघर्ष के 2009 में खत्म होने के बाद देश में पहली बार आपातकाल लगाया गया था।

गौरतलब है कि इस महीने की शुरुआत में कैंडी शहर में सांप्रदायिक हिंसा भड़क उठी थी, जिसमें तीन लोगों की मौत हो गई थी और कई घायल हो गए थे। बड़ी संख्या में दुकानों, घरों, मंदिरों और मस्जिदों को नष्ट कर दिया गया था या उनमें आग लगा दी गई थी।

इस हिंसा के लिए अब तक 280 से अधिक लोगों को गिरफ्तार किया जा चुका है जबकि कानून एवं व्यवस्था बनाए रखने के लिए जिले में कड़ी सुरक्षा एवं व्यवस्था की गई है।

loading...
शेयर करें